दरकिनार किए जाने पर नई सरकार की घोषणा: सीपीएन-एम

  • दरकिनार किए जाने पर नई सरकार की घोषणा: सीपीएन-एम
You Are HereInternational
Tuesday, January 14, 2014-6:57 PM

काठमांडू: नेपाल की विद्रोही माओवादी पार्टी सीपीएन-एम ने दरकिनार किए जाने पर एक और विद्रोह की चेतावनी दी है। पार्टी के सचिव नेत्र विक्रम चंद्र (विप्लव) ने कहा की अगर हमें यह महसूस हुआ कि दशक पुराने जन संघर्ष की उपलब्धियां जोखिम में है तो हम एक नया सत्ता केन्द्र बनाकर विद्रोह करेंगे। विप्लव ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि संसदीय पार्टियों को जन संघर्ष की उपलब्धियों को ठंडे वस्ते में डालने की साजिश से बचने की सलाह दी और चेतावनी दी कि अगर ऐसा होता है तो देश फिर सशत्र संघर्ष के दौर में वापस पहुंच जाएगा।

मोहन वैद्य के नेतृत्व में सीपीएन-एम का गठन हुआ है जिसने संविधान सभा के चुनावों का बहिष्कार किया था। चुनाव बहिष्कार का समर्थन करते हुए विक्रम चंद्र ने चुनावों को (असंवैधानिक ड्रामा) कहा और उसे भंग कर सर्वदलीय गोलमेज सम्मेलन बुलाने की मांग की। उन्होंने संविधान सभा को भी स्वीकार करने की बात कही वशर्ते कि दलित, हाशिए वाले, पीड़ित लोगों और श्रमिको के अधिकारों को सुनिश्चित करने और पहचान आधारित संघीय व्यवस्था भी स्थापित करने पर सहमति हो जाए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You