अफगान: राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए प्रचार शुरू

  • अफगान: राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए प्रचार शुरू
You Are HereInternational
Sunday, February 02, 2014-5:10 PM

काबुल: अफगानिस्तान में आज से चुनाव प्रचार शुरू हो गया। इसी बीच बंदूकधारियों ने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार अब्दुल्ला अब्दुल्ला के दो सहयोगियों की गोली मारकर हत्या कर दी। इस घटनाक्रम से अप्रैल में हामिद करजई के उत्तराधिकारी के लिए होने जा रहे राष्ट्रपति चुनाव को लेकर खतरे का पता चलता है। इस साल के आखिर तक नाटो बल भी अफगानिस्तान से चले जाएंगे।

हमला आधिकारिक चुनाव प्रचार की पूर्व संध्या पर कल किया गया। देश में 5 अप्रैल को चुनाव होने हैं, जिसे विदेशी बलों के देश से बाहर जाने की तैयारियों के बीच देश में मौजूद 3,50,000 अफगान सुरक्षा बलों के प्रभाव की एक महत्वपूर्ण परीक्षा के तौर पर देखा जा रहा है।

अधिकारियों ने बताया कि हेरात के पश्चिमी शहर में कल अब्दुल्ला अब्दुल्ला के दो सहायकों को गोली मार दी गई। अब्दुल्ला अब्दुल्ला पूर्व विदेश मंत्री हैं और उन्हें राष्ट्रपति पद के मजबूत दावेदार के तौर पर देखा जा रहा है। काबुल और वाशिंगटन के बीच विवाद चल रहा है कि क्या वर्ष 2014 के बाद अमेरिकी सैनिकों के एक छोटे बल के अफगानिस्तान में बने रहेंगे और प्रचार में इस मुद्दे के छाए रहने की उम्मीद है।

समझा जाता है कि करजई ने पिछले साल के आखिर में एक द्विपक्षीय सुरक्षा समझौता (बीएसए) पर हस्ताक्षर किए, जो इस साल दिसंबर में नाटो बलों की रवानगी के बाद 10,000 अमेरिकी सैनिकों को यहां रूकने की अनुमति देगा। लेकिन बाद में उन्होंने यह भी कहा कि उनके उत्तराधिकारी वार्ता पूरी करेंगे।  इसके बाद अफगानिस्तान के मुख्य दानदाता अमेरिका के साथ उसके संबंध में फिर से दूरी आ गई।

वर्ष 2001 में तालिबान के पतन के बाद से देश में करजई का शासन है। उन पर कई बार जानलेवा हमले किए गए। करजई अफगान राजनीतिक जीवन को गति देने में अहम साबित हुए क्योंकि देश में अरबों डॉलर की सैन्य और विकास सहायता आई। तीसरे कार्यकाल के लिए उनके मना करने के बाद पांच अप्रैल को मतदान की राह साफ हो गई। हो सकता है कि इन चुनावों के बाद मई के आखिर में दो मजबूत दावेदारों के बीच दूसरा रन ऑफ हो।

अब्दुल्ला वर्ष 2009 में चुनाव में दूसरे स्थान पर रहे थे। तब करजई जीते थे और चुनावों में धांधली होने का आरोप लगा था। अन्य दावेदारों में पूर्व वित्त मंत्री अशरफ गियानी, करजई के निष्ठावान जलमेई रसूल और सुर्खियों से दूर रहना पसंद करने वाले राष्ट्रपति के भाई कयूम करजई शामिल हैं।

 

 

 

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You