Subscribe Now!

ट्रंप से डरे हुए है न्यूयॉर्क के लोग !

  • ट्रंप से डरे हुए है न्यूयॉर्क के लोग !
You Are HereInternational
Thursday, November 17, 2016-1:42 PM

न्यूयॉर्क : न्यूयॉर्क के मेयर बिल डे ब्लासियो ने अमरीका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप से मुलाकात कर कहा है कि न्यूयॉर्क के लोग इस बात से डरे हुए हैं कि नया प्रशासन कैसे काम करेगा । डे ब्लासियो ने बताया कि बैठक के दौरान उन्होंने ट्रंप से स्पष्ट कहा है कि वो ऐसे प्रवासी लोगों को उनके देशों में वापस भेजे जाने का विरोध करेंगे जिनके पास पर्याप्त दस्तावेज़ नहीं हैं। 

ब्लासियो का कहना था कि प्रवासियों के लिए ट्रंप की योजनाएं न्यूयॉर्क जैसे शहर में काम नहीं करेंगी जो प्रवासियों के लिए सबसे अच्छी जगह है। ट्रंप ने राष्ट्रपति पद का चुनाव जीतने के बाद कहा था कि वो उन सभी प्रवासियों को जेल में डाल देंगे या उनके देश वापस भेज देंगे जिनका आपराधिक रिकार्ड है और ऐसे लोगों की संख्या 30 लाख तक है। हालांकि यह आंकड़ा काफी विवादास्पद है। माइग्रेशन पॉलिसी इंस्टिट्यूट (निष्पक्ष थिंक टैंक) का कहना है कि बिना दस्तावेज़ वाले प्रवासी जो आपराधिक रिकॉर्ड के साथ हैं उनकी वास्तविक संख्या 820,000 है।  इनमें से वे लोग भी शामिल हैं जो अवैध रूप से सरहद पार हुए हैं।

इस मामले में केवल बिल डे ब्लासियो ही नहीं हैं जो ट्रंप की प्रवासी नीति का विरोध कर रहे हैं । लॉस एंजल्स, सैन फ्रांसिस्को, शिकागो, बोस्टन, फिलडेल्फिया और वॉशिंगटन डीसी के मेयरों ने भी वादा किया है कि वे अपने शहर के लोगों की हर हाल में सुरक्षा करेंगे। ब्लासियो ट्रंप की जीत के बाद न्यू यॉर्क में प्रवासियों के पक्ष में खुलकर आ गए हैं। ट्रंप की जीत के बाद उन्होंने शहर से डेटाबेस से बिना दस्तावेज़ों वाले प्रवासियों का नाम हटा दिया था ताकि उन्हें किसी भी तरह की दिक्क़त का सामना नहीं करना पड़े।  

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You