अमेरिका के नए राष्ट्रपति ट्रंप की इन बातों से होंगे आप भी अनजान

  • अमेरिका के नए राष्ट्रपति ट्रंप की इन बातों से होंगे आप भी अनजान
You Are HereTop News
Wednesday, November 09, 2016-1:30 PM

नई दिल्ली: अमेरिका के 45वां राष्ट्रपति बनने के लिए मुकाबला 69 साल की डेमोक्रेट हिलेरी क्लिंटन और 70 वर्ष के रिपब्लिकन डोनल्ड ट्रंप के बीच चल रहा था जो अब खत्म हो गया है। अमेरीकी राष्‍ट्रपति पद के चुनाव में डोनाल्‍ड ट्रम्‍प ने इतिहास रच दिया है। उन्होंने हिलेरी को हरा कर अमेरिका की सत्ता अपने नाम कर ली है। एक साल पहले तक दुनिया में केवल एक अरबपति बिजनेसमैन के रूप में ही पहचाने जाने डोनाल्‍ड ट्रंप के बारे में कुछ ऐसी बात आज हम आपको बताने जा रहे हैं जिससे शायद आप अनजान होंगे। 
 

डोनाल्‍ड ट्रंप का जीवन
डोनाल्‍ड ट्रंप का जन्म 14 जून, 1946 क्वींस, न्यूयार्क सिटी हुआ था। उनकी मां का नाम मरियम ऐनी और पिता का नाम फ्रेड ट्रंप है। वहीं, ट्रंप ने तीन शादियां की हैं। उन्होंने 1977 में पहली शादी इवाना जेल्निकोवा के साथ, दूसरी शादी 1993 में मार्ला मैपल्स के साथ और 2005 में मेलानिया नाउस के साथ कीं।
 

डोनाल्‍ड ट्रंप के बच्चे
पहली पत्‍नी इवाना से डोनाल्ड ट्रम्‍प जूनियर, इवानका ट्रंप और एरिक ट्रम्‍प। दूसरी पत्‍नी मार्ला से टिफनी ट्रम्‍प। तीसरी पत्‍नी मेलानिया से विलियम ट्रंप। वहीं,ट्रम्प के प्रेसिडेंशियल इलेक्शन कैंपेन में सबसे ज्यादा नजर उनकी बेटियां आईं। खासकर उनकी बड़ी बेटी इवांका हर प्रोग्राम में उनके साथ दिखीं। वहीं, टिफनी भी कैम्पेन के दौरान एक्टिव रहीं। दोनों की पहचान मॉडल और बिजनेसवुमन के तौर पर है। इवांका पिता के ज्यादा करीब हैं। इन्हें लेकर ट्रंप के कई बेतुके बयान भी समय-समय पर सामने आए हैं। ट्रम्प एक शो में बेटी को सेक्सी तक करार दे चुके हैं, जो काफी चर्चा में रहा था। 

ट्रंप की हॉबी
चुनाव में अपने बोलने के अंदाज के समर्थकों को अपनी तरफ खींचने वाले को लेखन, फुटबॉल और बेसबॉल पंसद है। वह खाली समय में ये करना पसंद करते हैं।

शिक्षा
फोडर्म विश्वविद्यालय और पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय के वार्टन स्कूल ऑफ फाइनेंस एंड कॉमर्स से पढ़ाई।

करिअर की शुरुआत
कॉलेज के समय से ही पिता की कंपनी में काम की शुरुआत। 2011 में फोब्र्स की टॉप 100 सेलिब्रिटी में नाम शामिल हुआ।

अध्यक्ष
चेयरमैन और प्रेसीडेंट द ट्रंप ऑर्गनाइजेशन हैं। वह अध्यक्ष ट्रंप प्लाजा एसोसिएट्स हैं। ट्रम्‍प अटलांटिक सिटी एसोसिएट्स अपरेंटिस के अध्यक्ष हैं।

भारत के प्रति ट्रंप की नीतियां
भारत के सबसे अच्छे दोस्त साबित होने का हर संभव प्रयास करेंगे। वह भारत में बड़े पैमाने पर निवेश करेंगे। ट्रंप कश्मीर मामले पर मध्यस्थता की पेशकश कर सकते हैं। वहीं, भारत में आउटसोर्सिंग के खिलाफ कदम उठाएंगे। यह भारत की आईटी कंपनियों के लिए बुरा कदम होगा। जबकि इस्लामिक कट्टरपंथ और आतंकवाद के मसले पर पाकिस्तान को रोकने में भारत का साथ दे सकते हैं। H1--बी वीजा सिस्टम में पूरी तरह बदलाव करेंगे। यह वीजा अमेरिका में अस्थाई रूप से काम करने के लिए दिया जाता है। अधिकांश भारतीय आईटी कंपनियां इस वीजा का इस्‍तेमाल करती हैं।

ट्रंप का स्टाइल
व्यवस्था को झकझोर कर रख देने की चाह रखने वाले डोनाल्ड ट्रंप मजबूत इरादों के व्‍यक्ति हैं। हालांकि बुद्धिजीवियों और विशेषज्ञों को इस बात का डर है कि ट्रंप अंतरराष्‍ट्रीय मामलों से मोटे तौर पर अनभिज्ञ हैं। वे एक व्यापारी हैं, नॉर्थ अटलांटिक ट्रीटी ऑर्गनाइजेशन (नैटो) और कश्मीर जैसे मुद्दों को समझने की अभी कोशिश कर रहे हैं। ऐसे तमाम महत्वपूर्ण मुद्दों पर उनकी राय मूड के हिसाब से बदलती रहती है, फिर वो चाहे भारत का मामला हो, रूस का मामला हो या फिर कुछ और।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You