अमरीका के इस कदम से चीन नाखुश, दी चेतावनी

  • अमरीका के इस कदम से चीन नाखुश, दी चेतावनी
You Are HereInternational
Friday, August 11, 2017-3:12 PM

बीजिंग: चीन ने विवादित दक्षिण चीन सागर में उसके कृत्रिम द्वीप के पास से अमरीकी युद्धपोत के गुजरने पर आज नाखुशी जताई और अमरीका के इस कदम के बाद चीन की नौसेना ने अमरीकी युद्धपोत को वापस लौटने की चेतावनी दी।
PunjabKesari
चीन और अंतर्राष्ट्रीय कानून का किया उल्लंघन
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जेंग शुआंग ने कहा कि यूएसएस जॉन एस मैक्केन युद्धपोत ने चीन और अंतर्राष्ट्रीय कानून का उल्लंघन किया है और देश की संप्रभुता तथा सुरक्षा को ‘‘गंभीर’’ रूप से नुकसान पहुंचाया है। जेंग ने कहा,‘‘चीन इस कदम से बेहद नाखुश है।’’ उन्होंने कहा कि चीन, अमरीका के समक्ष आधिकारिक विरोध दर्ज कराएगा। वहीं अमरीका के एक अधिकारी ने कहा कि यूएसएस जॉन एस मैक्केन ‘‘नौवहन की स्वतंत्रता’’ के तहत मिसचीफ रीफ से 6 समुद्री मील के भीतर से कल गुजरा था। 


चीन ने इस कृत्रिम द्वीप का निर्माण किया है। मिसचीफ रीफ दक्षिण चीन सागर में विवादित स्प्रैटली द्वीपों का हिस्सा है जिस पर चीन और पड़ोसी देश अपना-अपना दावा जताते हैं।  नाम गोपनीय रखने की शर्त पर अमरीका के एक अधिकारी ने मीडिया से कहा कि चीनी युद्धपोत ने यूएसएस मैक्केन को कम से कम 10 बार रेडियो चेतावनी भेजी। अधिकारी ने कहा,‘‘उन्होंने कहा ‘कृपया मुड़ जाइए, आप हमारे जल क्षेत्र में हैं।’ हमने उन्हें बताया कि यह अमरीकी पोत है जो अंतर्राष्ट्रीय समुद्र में नियमित अभियान पर है।’’  


अधिकारी ने कहा कि करीब 6 घंटे तक चले अभियान के साथ सभी बातचीत ‘‘सुरक्षित और पेशेवर’’ तरीके से की गई लेकिन जेंग ने कहा कि ऐसे अभियानों से ‘‘जान को गंभीर जोखिम’’ रहता है।’’ जनवरी में अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पद संभालने के बाद से अब तक नौवहन की स्वतंत्रता अभियान की यह तीसरी घटना है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You