मिसाइलों की रेंज बढ़ाएगा ईरान, यूरोप के शहर भी जद में

  • मिसाइलों की रेंज बढ़ाएगा ईरान, यूरोप के शहर भी जद में
You Are HereLatest News
Monday, November 27, 2017-11:19 AM

तेहरानः ईरान के वॉल्यूशनरी गार्ड्स के डैप्युटी हैड ने कहा कि यदि यूरोप की ओर से तेहरान को धमकी दी जाती है तो हम अपनी मिसाइलों की रेंज को 2,000 किलोमीटर से ज्यादा करेंगे। फार्स न्यूज एजैंसी के मुताबिक ब्रिगेडियर जनरल हुसैन सलामी ने कहा, 'यदि हमने मिसाइलों की सीमा को 2,000 किलोमीटर की रेंज से कम रखा है तो इसकी वजह तकनीक की कमी नहीं है बल्कि रणनीतिक कारणों से ऐसा किया गया है।'  ईरान ने कहा है कि वह अपनी मिसाइलों को अपग्रेड करेगा ताकि उनकी रेंज में यूरोप के शहर भी आ सकें। 

इंडिपैंडैंट की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा, 'अब तक हम मानते रहे हैं कि यूरोप हमारे लिए खतरा नहीं है, इसलिए हमने मिसाइलों की रेंज को बढ़ाने पर काम नहीं किया। लेकिन, यूरोप हमारे लिए खतरे में तब्दील होता है तो हम अपने मिसाइलों की रेंज को बढ़ाएंगे।' इस बीच ईरान के बलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम को लेकर फ्रांस ने बिना शर्त बातचीत की बात कही है। पिछले महीने ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स मिलिट्री फोर्स के मेजर जनरल मोहम्मद अली जाफरी ने कहा था कि हमारा 2,000 किलोमीटर तक का मिसाइल ज्यादातर अमरीकी हितों और बलों को निशाना बनाने में सक्षम हैं। इसलिए हमें इसे बढ़ाने की बहुत ज्यादा जरूरत नहीं है। 

जाफरी ने कहा था कि बलिस्टिक मिसाइलों की रेंज देश के शीर्ष नेता अयातुल्लाह अल खुमैनी जो सुरक्षा बलों के प्रमुख भी हैं, की ओर से निर्धारित की गई है । ईरान मध्य पूर्व के उन देशों में से एक हैं, जो मिसाइल तकनीक पर बड़े पैमाने पर काम कर रहे हैं। ईरान के बैलिस्टिक मिसाइलों की रेंज ईस्राइल तक है। गौरतलब है कि अमरीका ने ईरान पर कई प्रतिबंध लगा रखे हैं। अमरीका का कहना है कि ईरान का मिसाइल कार्यक्रम संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का उल्लंघन है। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You