35ए विवाद: महबूबा मुफ्ती नहीं, सिर्फ मोदी के बात के मायने : उमर

  • 35ए विवाद: महबूबा मुफ्ती नहीं, सिर्फ  मोदी के बात के मायने : उमर
You Are HereNational
Saturday, August 12, 2017-10:35 AM

श्रीनगर : पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर जो बात कही उसका कोई मतलब नहीं है। दोनों की मुलाकात में सिर्फ  प्रधानमंत्री मोदी की बात मायने रखती है। उमर ने ट्वीट किया कि मुफ्ती ने क्या कहा, इसके कोई मायने नहीं हैं। सिर्फ  मोदी की बात मायने रखती है। इस मुलाकात में सिर्फ वही बात है जो मायने रखती है।


उन्होंने आगे कहा कि महबूबा ने जिन आश्वासनों के मिलने का दावा किया है, अगर वे पूरे होते हैं, तब जम्मू-कश्मीर बड़ी समस्या से आज मुक्त हो जाएगा। मुफ्ती के बाद उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मोदी को बताना चाहिए कि उन्होंने क्या भरोसा दिलाया है। अपने अगले ट्वीट में उमर ने कहा कि माफ  करें अगर हम महबूबा मुफ्ती की बात पर भरोसा न करे, तो क्या पी.एम.ओ. बताएगा कि क्या भरोसा दिलाया गया है।


उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर और वहां के नागरिकों को स्पेशल स्टेटस देने वाले प्रावधानों को खत्म किए जाने से जुड़ी अटकलबाजियों के बीच सूबे की सीएम महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि पी.एम. से बातचीत की है। हालात सामान्य हो रहे हैं, लेकिन लोग सोचते हैं कि हमारी पहचान खतरे में जा सकती है। इसलिए जम्मू.कश्मीर भारत का ताज है, इस विचार पर कायम रहना चाहिए।


बता दें कि जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 और राज्य के स्थायी नागरिकों को परिभाषित करने वाले आर्टिकल 35ए पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी है। जहां तक सरकार का सवाल है, दोनों ही मुद्दे बीजेपी के परंपरागत एजेंडे के बेहद नजदीक हैं। आर्टिकल 35ए पर तो सरकार ने कोर्ट से साफ  कर दिया है कि इस प्रावधान पर ‘व्यापक चर्चा’ की जरूरत है।

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You