यूपी में 15 रुपए में मिलता है अवैध शराब का पव्वा

  • यूपी में 15 रुपए में मिलता है अवैध शराब का पव्वा
You Are HereNational
Friday, October 25, 2013-2:47 PM

लखनऊ: राजधानी के ग्रामीण इलाकों में बन रही देसी कच्ची शराब की बिक्री त्यौहार आते ही धड़ल्ले से होने लगती है। सस्ती मिलने के कारण लोगों का जमावड़ा शराब बनने वाले गांव के आसपास लगना शुरु हो गया है। कुछ समय पहले इसी सस्ती शराब से बड़ा हादसा हो चुका है। कहीं यह हादसा इस इलाके में दोबारा न जाए इसके लिए आबकारी विभाग को सतर्क होना पड़ेगा क्योंकि सस्ती शराब जान पर भारी पड़ सकती है। शाम होते ही लग जाता है जमावड़ा ग्रामीण इलाके के ग्राम घोला, दतली, औलियाखेड़ा, मधवापुर, शेरनगर, गोपालपुर, बेलगढ़ा, लुधौसी व खडौहां आदि गांवों में अवैध शराब का धंधा फल-फूल रहा है। यहां 15 रुपए से लेकर 20 रुपए तक का पव्वा पाऊचों में बिक रहा है। सस्ती शराब मिलने के कारण इन गांवों के आसपास बागों खेतों में शाम 5 बजे से पियक्कड़ों का जमावड़ा लगने लगता है।

ठेकों पर 1 पव्वा 60 रुपए में शराब के ठेकों पर शराब का पव्वा 60 रुपए में मिल रहा है। एक पियक्कड़ ने बताया कि ठेके की शराब में सेल्समैन शीशी से कुछ शराब निकाल उतना पानी मिला देते हैं जिससे एक पव्वा पीने से शरीर में झनझनाहट तक नहीं आती है। एक तो चार गुना दाम पर ठेके पर शराब मिलती है। इसके चौथाई दाम पर गांवों में बनने वाली कच्ची शराब  मिल  जाती  है। अवैध शराब के कारोबारी पाऊचों में शराब देते हैं। इसे झोले में भरकर ले जाने में आसानी रहती है। सामान्य व अर्थिकरुप से कमजोर लोग अपनी इच्छा की पूॢत के लिए अवैध शराब के जहर को पी रहे हैं। गांवों में बनने वाली कच्ची शराब नशीली करने के लिए कारोबारी उसमें यूरिया खाद व बेहया के पत्तों का रस मिला देते हैं। जो पीने वालों के शरीर में विभिन्न प्रकार की बीमारियां पैदा करते हैं।

कभी-कभी यह जहरीली शराब मौत का कारण भी बन जाती है। ग्रामीणों का कहना है कि कई माह पूर्व ग्राम घोला में शराब के अवैध कारोबारी कल्लू को जब पुलिस पकडऩे गई थी जिसके भागने पर वह नाले में गिरकर मर गया था। इस घटना में 4 पुलिस कर्मियों के विरुद्ध हत्या का अभियोग दर्ज हुआ था। इससे घबराई पुलिस शराब के इन अवैध कारोबारियों पर हाथ डालने से कतरा रही है। आबकारी विभाग जो मूल रुप से अवैध शराब की बिक्री पर रोक लगाने के लिए बना है जिसके अधिकारी वर्ष में 1-2 बार दिखावा मात्र के लिए अवैध शराब बनाने वाले गांवों पर दबिश देकर अपने कत्र्तव्यों की इतिश्री कर रहे हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You