दिल्ली विघानसभा का चुनाव सेमीफाइनल: गडकरी

  • दिल्ली विघानसभा का चुनाव सेमीफाइनल: गडकरी
You Are HereNational
Thursday, November 21, 2013-5:26 PM

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी  (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष और दिल्ली प्रभारी नितिन गडकरी ने राज्य के विधानसभा चुनाव को अगले साल होने वाले आम चुनाव का सेमीफाइनल बताते हुए आज युवाओं का आह्वान किया कि पहले इसे जीतो फिर 2014 में दिल्ली फतह करेंगे।  गडकरी ने भाजपा के प्रदेश कार्यालय में दिल्ली भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि राजधानी की जनता पिछले 15 साल के श्रीमती शीला दीक्षित के शासन से तंग आ चुकी है और वह बदलाव के पक्ष में है। उ

न्होंने युवाओं से कहा कि यदि वह ठान लेंगे तो दिल्ली में भाजपा को दो तिहाई बहुमत हासिल करने से कोई रोक नहीं पायेगा। उन्होंने कहा कि यह विडम्बना है कि दिल्ली की मुख्यमंत्री एक महिला हैं और यहां महिलाओं की सुरक्षा की इतनी बदतर स्थिति है कि राजधानी को बलात्कार की नगरी के नाम से पुकारा जाने लगा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता में आने पर बच्चियों। महिलाओं और  बुजुर्गों की सुरक्षा के लिए विशेष उपाय करेगी। राष्ट्रमंडल खेलों के घोटालों का जिक्र करते हुए  गडकरी ने कहा कि खेल आयोजन समिति के अध्यक्ष सुरेश कलमाडी को तो 1600 करोड रुपए ही खर्च करने थे ।

मुख्यमंत्री ने 40 हजार करोड रुपए खर्च सकिए। खेलों में घोटालों का खुलासा प्रधानमंत्री की गठित शुंगलू कमेटी ने भी किया है। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) दोनों को निशाने पर लेते हुए  गडकरी ने कहा कि बटला हाऊस मुठभेड को दोनों ने फर्जी करार दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने वोट बैंक के लिए जातिवाद ।सांप्रदायिकता का जहर घोला है। कांग्रेस आतंकवादियों का तुष्टिकरण कर रही है। आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल पर सवाल करते हुए उन्होंने कहा कि बरेली किससे मिलने गए थे सबको पता है।

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी अल्पसंख्यकों अथवा मुस्लिमों के खिलाफ नहीं है। भाजपा इंडियन मुजाहिद्दीन। आईएसआई और
लश्करे तोएब के विरुद्ध है। भाजपा जाति, पंथ, धर्म, भाषा का भेदभाव नहीं करती है। कांग्रेस और मीडिया के कुछ लोग देश में भाजपा को खलनायक के रुप में दिखाना चाहते हैं। कांग्रेस मुसलमानों  में भय पैदा कर उनका वोट हासिल करना चाहती है।  उन्होंने सवाल किया कि भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी का नाम लेकर जिस तरह से अल्पसंख्यकों और दलितों में डर पैदा किया जा रहा है । क्या वह सही है।

उन्होंने कहा कि गुजरात में उन इलाकों का क्या विकास नहीं हुआ जहां मुसलमान रहते हैं। भाजपा समग्र समाज के विकास में विश्वास रखती है। दिल्ली विधानसभा के चुनाव को कांग्रेस-भाजपा अथवा शीला दीक्षित, हर्षवर्धन की लडाई नहीं बताते हुए गडकरी ने कहा कि कांग्रेस ने दिल्ली और देश को गड्ढे में डाल दिया है। यह देश को बचाने की लडाई है।

कांग्रेस ने अर्थव्यवस्था का दीवाला निकाल दिया है। गलत आॢथक नीतियों की वजह से देश की अर्थव्यवस्था चौपट हो चुकी है और युवा वर्ग में वह ताकत है जो देश को बचा सकती है।  पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार डा। हर्षवर्धन ने कहा कि युवाओं का देश की तरक्की में बहुत बडा योगदान है। युवाओं को अपनी ताकत की पहचान करने की जरुरत है। उनहोंने कहा कि युवा मोर्चा अपनी ताकत पहचान कर उतार जाये तो भाजपा अकेले ही दिल्ली में चुनाव जीत सकती है। 

डा। हर्षवर्धन ने कहा कि दिल्ली में सत्ता में आने पर भाजपा युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए विशेष कदम उठायेगी। रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए 'अटल युवा आयोग' बनाया जायेगा। दिल्ली की जनता में उत्साह है और वह कांग्रेस को उखाड फेंकने के लिए तैयार है। भाजपा युवाओं की ताकत से पहले दिल्ली में कांग्रेस को उखाडेगी और इसके बाद केन्द्र से बाहर किया जायेगा। उन्होंने दावा किया कि दिल्ली में पार्टी की ऐतिहासिक विजय होगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You