आरुषि कांड: नेपाली नौकरों को मुआवजा के लिए याचिका

  • आरुषि कांड: नेपाली नौकरों को मुआवजा के लिए याचिका
You Are HereNational
Wednesday, November 27, 2013-11:21 AM

लखनऊ: भारतीय पुलिस सेवा (आपीएस) अधिकारी अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता डा.नूतन ठाकुर ने आज राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में आरुषि कांड में तीन नेपाली युवकों कृष्णा. राजकुमार और विजय मंडल को केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा अवांछनीय तेजी दिखाते हुए गिरफ्तार करने के सम्बन्ध में उन्हें पर्याप्त मुआवजा दिए जाने के लिए याचिका दायर की है। साथ ही मुख्य अभियुक्तों को बचाने के लिए इस प्रकार अकारण गिरफ्तारी करने वाले सभी सम्बन्धित सीबीआई अधिकारियों की आपराधिक और प्रशासनिक जिम्मेदारी तय किये जाने की भी प्रार्थना की गई है।

उच्चतम न्यायालय द्वारा जोगिन्दर सिंह बनाम उत्तर प्रदेश सरकार तथा नीलबती बेहेरा बनाम ओडिसा में दिए निर्णयों के आधार पर आयोग से यह आग्रह किया गया है। याचिकाकर्ता का कहना है कि आरुषि कांड में सीबीआई ने जांच शुरू करने के 13 दिनों में ही ये गिरफ्तारियां शुर कर दी जिन्हें साक्ष्यों के अभाव में सितम्बर में जमानत देनी पड़ी थी। सीबीआई विशेष अदालत के कल के निर्णय ने यह स्पष्ट कर दिया कि इन तीनों का इस मामले से दूर-दूर तक कोई वास्ता नही था और उन्हें मुख्य अभियुक्तों को बचाने के लिए गिरफ्तार किया गया था। नूतन ने पूर्व में यह मामला इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ में उठाया था जहां उन्हें इलाहाबाद जाने की सलाह दी गई थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You