छत्तीसगढ़ में ‘विभीषणों’ की सूची दोनों दल कर रहे तैयार

  • छत्तीसगढ़ में ‘विभीषणों’ की सूची दोनों दल कर रहे तैयार
You Are HereNational
Wednesday, November 27, 2013-10:42 AM

रायपुर: छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में मतदान के बाद अब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) तथा कांग्रेस पार्टी में पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ काम करने वाले विभीषणों की सूची तैयार होने लगी है। जानकारी के अनुसार, सूबे के सभी सीटों पर दोनों ही दलों में विभीषणों की सूची तैयार की जा रही है, जिसे मतगणना के बाद परिणाम देखते ही प्रदेश मुख्यालय भेज दिया जाएगा। इसे देखते हुए इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि अबकी बार कार्रवाई की गाज गिरेगी जरूर।

 

दोनों राजनैतिक दलों में इस चुनाव के बाद बड़ी संख्या में विभीषणों पर गाज गिरने की आशंका है। विदित हो कि विगत दिनों हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा तथा कांग्रेस पार्टी के कई ऐसे कार्यकर्ता चिह्नांकित किए गए हैं जिन्होंने पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ कार्य किया है। चुनाव प्रचार-प्रसार के दौरान ऐसे विभीषणों की लगातार शिकायत मिलने के बाद पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने उन्हें चिह्नांकित तो कर लिया है, परंतु उनके ऊपर कार्रवाई नहीं की है।

 

मतदान निपटने के बाद अब विभीषणों की पूरी सूची तैयार होने लगी है तथा भाजपा-कांग्रेस पार्टी में कई लोगों को पार्टी के खिलाफ कार्य करने के लिए चिह्नांकित कर लिया गया है। विधानसभा चुनाव 2008 में भी दोनों ही दलों में पार्टी विरोधी कार्य करने वाले कार्यकर्ताओं-नेताओं की शिकायत की गई थी, परंतु उस शिकायत पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो सकी है, परंतु इस वर्ष दोनों ही प्रमुख पार्टियां विभीषणों को क्षमा करने को तैयार नहीं हैं तथा परिणाम बाद विभीषणों पर कार्रवाई तय मानी जा रही है।

 

गौरतलब है कि विगत विधानसभा चुनावों के बाद कई नेताओं-कार्यकर्ताओं पर अपनी पार्टी के खिलाफ कार्य करने के आरोप लगे थे। वहीं लोकसभा चुनाव तथा विगत विधानसभा चुनाव में भी यही हाल रहा है। पार्टी के खिलाफ कार्य करने वालों की लगातार शिकायत मिलने के बाद पार्टी द्वारा ठोस कार्रवाई नहीं किए जाने से पार्टी विरोधी नेताओं के हौसले बुलंद हैं।

 

कांग्रेस पार्टी में विधानसभा के प्रत्याशियों को आने वाले दिनों में 20 बिंदुओं का एक प्रोफार्मा दिया जाएगा, जिसमें उन्हें पूरी जानकारी के साथ पार्टी के खिलाफ कार्य करने वाले लोगों की सूची तैयार कर दिल्ली भेजनी होगी। इस पद्धति से कांग्रेस सीधे प्रत्याशियों से जानकारी लेकर कार्य करेगी। बलौदाबाजार जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष दिनेश यदु ने बताया कि अभी तक उन्हें ऐसे किसी प्रोफार्मा की जानकारी नहीं है परंतु आने वाले दिनों में पार्टी के खिलाफ कार्य करने वालों की सूची तैयार कर जानकारी प्रदेश अध्यक्ष तक भेजी जाएगी।

 

विभीषणों पर कार्यवाही के बारे में भाजपा जिला अध्यक्ष डा. अजय राव ने कहा कि भाजपा में प्रत्याशियों से सीधे न पूछकर मंडल स्तर से पूछताछ की जाती है। पार्टी के खिलाफ कार्य करने वालों की शिकायत मिलने के बाद उसे पहले शोकॉज नोटिस भेजा जाता है तथा जवाब मांगा जाता है। जवाब आने पर पूरी प्रक्रिया को प्रदेश कार्यालय तक भेज दिया जाता है। बहरहाल, परिणाम घोषित होने के बाद जहां का प्रत्याशी पराजित होगा वहां भितरघातियों पर गाज गिरने कि पूरी संभावना है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You