अनुच्छेद 370 पर बहस होनी ही चाहिए : पन्नुन कश्मीर

  • अनुच्छेद 370 पर बहस होनी ही चाहिए : पन्नुन कश्मीर
You Are HereNational
Saturday, December 07, 2013-8:34 PM

जम्मू: कश्मीरी पंडितों के संगठन (पन्नुन कश्मीर) ने आज कहा कि अनुच्छेद 370 पर बहस होनी ही चाहिए। संगठन के प्रमुख अश्वनी कुमार चरंगू ने यहां आयोजित एक समारोह में कहा कि जम्मू कश्मीर की स्थिति को यदि देखा जाए तो स्पष्ट होता है कि जम्मू के लोग, कश्मीरी पंडित, लद्दाखी और दूसरे अल्पसंख्यक समुदाय सभी अनुच्छेद 370 का विरोध करते हैं। ऐसे में यह सवाल तो उठता ही है कि आखिर इसके जारी रहने के पक्ष में कौन है। अनुच्छेद 370 संविधान में की गई कोई स्थायी व्यवस्था नहीं है।

उन्होंने कहा कि इस संबंध में आखिरी फैसला भारतीय संसद ले सकती है। इस अनावश्यक प्रावधान के खिलाफ काफी विरोध है। साथ ही कहा कि यह एक ऐसी संवैधानिक व्यवस्था है जो जम्मू-कश्मीर के अलग अस्तित्व को न्यायोचित ठहराता है। इस दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक अशोक खजूरिया ने कहा कि भाजपा राज्य में कश्मीरी पंडितों और अन्य अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने राज्य के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को अनुच्छेद 370 पर गंभीर बहस शुरू करने की चुनौती दी थी। इस पर बहस के लिए भाजपा श्रीनगर भी आने को तैयार है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You