रैली मोदी की, प्रतिष्ठा फंसी दिग्गजों की

  • रैली मोदी की, प्रतिष्ठा फंसी दिग्गजों की
You Are HereNational
Friday, December 20, 2013-11:03 AM

वाराणसी: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी की आज यहां आयोजित रैली से ज्यादा प्रतिष्ठा अध्यक्ष राजनाथ सिंह समेत कई दिग्गजों की फंसी हुई है क्योंकि ये सभी इसी क्षेत्र के रहने वाले हैं। पार्टी के वरिष्ठतम नेताओं में से एक डा. मुरली मनोहर जोशी यहीं से सांसद हैं जबकि पार्टी अध्यक्ष वाराणसी से सटे चंदौली जिले के मूल निवासी हैं। रैली में काशी क्षेत्र के 14 संसदीय और 72 विधानसभा क्षेत्रों में से भीड़ का जुटाना होगा। सिंह और जोशी के साथ ही पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह, कलराज मिश्र एवं केशरी नाथ त्रिपाठी, भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष आशुतोष राय का जुड़ाव भी इसी क्षेत्र से है।

मोदी राजातालाब मैदान में अपनी पांचवीं विजय शंखनाद रैली को सम्बोधित करेंगे। उनके साथ अध्यक्ष राजनाथ सिंह, पूर्व अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी एवं पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह समेत कई वरिष्ठ मोदी तथा राजनाथ सिंह द्वारा बाबा विश्वनाथ एवं संकट मोचन मन्दिर के दर्शन कार्यक्रम से सुरक्षा बंदोबस्त कराने को लेकर प्रशासन की सांसें अटकी है। मोदी से आग्रह किया गया है कि वह मन्दिरों में दर्शन करने के लिए न जायें लेकिन भाजपा प्रशासन के आग्रह को मानने के लिए तैयार नहीं है। पूर्वांचल में नरेंद्र मोदी की यह पहली रैली है जिसपर सबकी निगाहें लगी हैं। रैली में काशी क्षेत्र के 14 संसदीय और 72 विधानसभ क्षेत्रों में से भीड़ का जुटान होगा।

रैली की सुरक्षा के लिए प्रदेश तथा गुजरात पुलिस के अलावा केन्द्रीय बल भी मुस्तैद हैं। रैली स्थल के ईद-गिर्द के गांवों के लाइसेंसी असलहे जमा करा लिए गए हैं। प्रदेश महामंत्री देवेन्द्र चौहान का दावा है कि बनारस रैली अब तक की सबसे बड़ी रैली साबित होगी और इसका संदेश बिहार तक जायेगा।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You