कांग्रेस आलाकमान पर छोड़ा नेता प्रतिपक्ष का फैसला

  • कांग्रेस आलाकमान पर छोड़ा नेता प्रतिपक्ष का फैसला
You Are HereNational
Wednesday, January 15, 2014-3:32 PM

जयपुर: राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का चुनाव करने के लिए आज यहां पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रदेश प्रभारी गुरुदास कामत एवं केन्द्रीय पर्यवेक्षक गुलाम नबी आजाद की उपस्थिति में हुई विधायक दल की बैठक में प्रतिपक्ष के नेता का फैसला आलामकान पर छोड़ दिया गया। पार्टी के प्रदेश कार्यालय में दोपहर को हुई बैठक में कामत तथा आजाद ने नवनिर्वाचित 21 विधायकों से एक एक कर राय ली और आम सहमति बनाने का प्रयास किया।

सूत्रों ने बताया कि नेता प्रतिपक्ष के पद के लिये वरिष्ठ नेता प्रद्युम्न सिंह, पूर्व अध्यक्ष नारायण सिंह तथा आदिवासी नेता महेन्द्र सिंह मालवीया दौड में हैं। इसके साथ ही डीग..कुम्हेर से निर्वाचित विधायक विश्वेन्द्र सिंह तथा नोखा से चुने गए विधायक रामेश्वरी डूडी की भी चर्चा है। सूत्रों ने बताया कि निवर्तमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की उपस्थिति में हुई बैठक में नेता प्रतिक्ष के चयन को लेकर एक राय नहीं बन पाई।

गुर्जर नेता सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने के बाद प्रदेश में जाट समाज को साधने के लिये किसी जाट नेता को प्रतिपक्ष का नेता चुने जाने की चर्चा है जबकि वरिष्ठता और अनुभव के लिहाज से प्रद्युम्न सिंह इस पद के लिये उपयुक्त माने जा रहे हैं लेकिन वह वैश्य समाज से हैं और पार्टी जातिगत समीकरण को साधने का प्रयास कर रही है।

सूत्रों का कहना है पार्टी किसी जाट नेता को नेता प्रतिपक्ष का मौका देना चाहती है। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में करारी हार के बाद कांग्रेस के केवल 21 विधायक ही चुने जाने के कारण नेता प्रतिपक्ष के चयन को लेकर पार्टी में गहमागहमी है 1 आगामी 21 जनवरी से विधानसभा का सत्र शुरु होने वाला है और नेता प्रतिपक्ष का चुनाव पार्टी आलाकमान को इससे पहले करना पड़ेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You