थरूर को फिर देना पड़ सकता है इस्तीफा !

  • थरूर को फिर देना पड़ सकता है इस्तीफा !
You Are HereNcr
Sunday, January 19, 2014-2:15 PM

नई दिल्ली (अजीत के. सिंह): ऐसे में जब लोकसभा चुनाव नजदीक हों केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री शशि थरूर का एक बार फिर से विवादों में आना कांग्रेस के लिए चुनाव में बड़ी मुसीबत खड़ी कर सकता है। हालांकि अभी कांग्रेस का कोई नेता इस मुद्दे पर ज्यादा बात नहीं करना चाहता लेकिन ऐसी आशंका जताई जा रही है कि अगर मामला ज्यादा गहराता है तो थरूर को इस्तीफा भी देना पड़ सकता है। 

थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर का शुक्रवार को संदिग्ध अवस्था में मौत के बाद थरूर पर उंगली उठनी शुरू हो गई है। इस बात की आशंका जताई जा रही है कि थरूर के एक पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार के साथ प्रेम-प्रसंग का मामला सामने आने के बाद सुनंदा ने आत्महत्या की है। हालांकि जब तक पोस्टमार्टम रिपार्ट नहीं आ जाती इस बारे में कुछ भी साफ-साफ नहीं कहा जा सकता कि सुनंदा की मौत की असल वजह क्या थी इसकी आशंका दवा के ओवरडोज की भी जताई जा रही है। इस बारे में कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने कहा ‘इस घटना से हम सभी बहुत आहत हैं और पोस्टपार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही इस बारे में कोई भी टिप्पणी की जा सकती है कि यह घटना कैसे हुई।’ शशि थरूर इससे पहले भी विवादों में रहे हैं। 

थरूर पहली बार साल 2009 में तब विवादों में आए थे, जब वे अपने घर के रिनोवेशन के दौरान दिल्ली के एक 5 स्टार होटल में रह रहे थे। हालांकि बाद में यह कह कर कि होटल का बिल वे खुद अदा कर रहे हैं उन्होंने मामला को जैसे-तैसे शांत किया। इसके करीब एक हफ्ते बाद वे दोबारा विवादों में आएं। उस समय उन्हें एक बार हवाई जहाज के इकनॉमी क्लास में यात्रा करनी पड़ी थी। इस बारे में उन्होंने ट्विटर पर कहा था कि उन्हें ‘कैटल क्लास’ में यात्रा करनी पड़ेगी।

इस ट्विट को लेकर राजनीति काफी गरमाई थी। इन दोनों घटनाओं के बाद थरूर साल 2010 में एक बार फिर विवादों में आए थे, जब सुनंदा पुष्कर का नाम आईपीएल की कोच्चि टीम के हिस्सेदारों की सूची में आया था। थरूर पर यह आरोप लगा कि उन्होंने कोच्चि टीम में 18 फीसदी हिस्सेदारी सुनंदा को उपहार स्वरूप दिए थे। हालांकि उस समय यह साफ नहीं था कि सुनंदा शशि थरूर की पत्नी हैं या नहीं। कुछ लोगों द्वारा सुनंदा को थरूर का दोस्त भी बताया जा रहा था। उस समय थरूर विदेश राज्य मंत्री थी। इस मामले ने इस कदर राजनीतिक रंग पकड़ा कि थरूर को अपने मंत्री पद से इस्तीफा तक देना पड़ा।  

 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You