कांग्रेस या भाजपा से गठजोड़ नहीं, तीसरे मोर्चे की तैयारी: JDU

  • कांग्रेस या भाजपा से गठजोड़ नहीं, तीसरे मोर्चे की तैयारी: JDU
You Are HereNational
Sunday, February 02, 2014-3:33 PM

नई दिल्ली: जदयू ने अपनी सहयोगी रही भाजपा या कांग्रेस के साथ किसी तरह के गठजोड़ की संभावना को खारिज करते हुए आज विश्वास जताया कि अंतर्निहित विरोधाभासों के बावजूद लोकसभा चुनावों के बाद तीसरा मोर्चा उभरेगा और पार्टी उसका अहम हिस्सा रहेगी।

जदयू अध्यक्ष शरद यादव ने पीटीआई को दिये साक्षात्कार में स्वीकार किया कि कुछ अंतर्निहित विरोधाभास हैं जो सभी गैर-कांग्रेसी और गैर-भाजपाई दलों को एक मंच पर लाने में बाधा पैदा करते हैं। उन्होंने पहले भी इस तरह के गठबंधनों की सरकार बनने का उदाहरण दिया। यादव ने कहा कि जदयू, सपा और जेडीएस जहां पहले ही बात कर चुके हैं वहीं अन्य दलों से बातचीत जारी है।

उन्होंने अन्नाद्रमुक, बीजद और एजीपी समेत 17 पार्टियों के सांप्रदायिकता के खिलाफ एक सम्मेलन के लिए वाम दलों की ओर से की गयी पहल का भी उदाहरण दिया जिनमें से अधिकतर के साथ भाजपा गठबंधनों की संभावना तलाश रही है।

यादव ने कहा, ‘‘राज्यों में कुछ अंतर्निहित विरोधाभास हैं। वाम दल और ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल में एक साथ नहीं रह सकते, उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा या तमिलनाडु में द्रमुक और अन्नाद्रमुक साथ में नहीं रह सकते। लेकिन पिछले 65 साल का अनुभव दिखाता है कि आंतरिक मतभेदों के बावजूद महत्वपूर्ण मुद्दों पर व्यापक सहमति है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमने जब महंगाई जैसे मुद्दों पर भारत बंद का आयोजन किया था तब भी ये दल साथ आये थे। हम एक रास्ता खोजने का प्रयास कर रहे हैं और जदयू, सपा तथा जनता दल सेकुलर साथ में आये हैं। और भी पार्टी आएंगी। हम कोशिश कर रहे हैं और हमें विश्वास है कि यह होगा।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You