शिशु का सर कलम कर उसका खून पीता था तांत्रिक, मिली सजाए मौत

  • शिशु का सर कलम कर उसका खून पीता था तांत्रिक, मिली सजाए मौत
You Are HereNational
Tuesday, February 04, 2014-1:35 PM

बांकुड़ा: पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा जिले में एक अदालत ने दो साल पहले तंत्र-मंत्र के रूप में एक शिशु का सिर काट कर उसका खून पीने वाले एक तांत्रिक को सजाए मौत सुनाई है। सुलज्ञा दस्तीदार (छतरज) की फास्ट ट्रैक अदालत ने इस मामले को दुर्लभतम मामलों में से एक करार देते हुए कल तांत्रिक लखीकांत कर्माकर को दोषी ठहराया और उसे सजाए मौत सुनाई। अभियोजन पक्ष के अनुसार सालतोड़ा थाना अंतर्गत कलाकुड़ी गांव के लोगों ने 29 जनवरी को कर्माकर को एक कब्रिस्तान के पास काली मंदिर में बच्चे के सिर के साथ देखा।

तकरीबन 11 बजे पूर्वाह्न तांत्रिक को कर्मकांड करता हुआ और कटे सिर से टपकता खून पीता हुआ पाया गया। स्थानीय लोगों ने उसकी पिटाई की और उसे पुलिस के हवाले कर दिया। चूंकि किसी ने कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई, पुलिस ने स्वत: संज्ञान लेते हुए मामले की शुरूआत कर दी। इस मामले में कुल 17 गवाह पेश किए गए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You