आजम खान ने कहा, काश! मेरा नसीब भी मेरी भैंसों के जैसा होता

  • आजम खान ने कहा, काश! मेरा नसीब भी मेरी भैंसों के जैसा होता
You Are HereNational
Wednesday, February 05, 2014-12:51 PM

नई दिल्ली: अपनी भैंसें चोरी होने और उस पर लापरवाही के मामले में पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर मीडिया में व्यापक कवरेज से नाराज उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आजम खां ने तंज कसते कहा कि वह अपनी भैंसों जैसी किस्मत चाहते हैं, जो मलिका विक्टोरिया से भी ज्यादा मशहूर हो गयी हैं।

खां ने पद्म भूषण कवि गोपाल दास नीरज की पुस्तकों के विमोचन अवसर पर कल कहा ‘‘इस वक्त मेरी भैंसें मलिका विक्टोरिया से भी ज्यादा मशहूर हो गयी हैं ... आप मेरी भैंसों का नसीब तो देखिये। काश, मैं भी अपनी भैंसों की तरह खुशकिस्मत होता।’’ उन्होंने कहा ‘‘आप कोई भी समाचार चैनल खोलकर देख लें। आप मुझे भैंसों के पीछे सिर पर रखे झौव्वे में गोबर लिये देखेंगे।’’ गौरतलब है कि गत एक फरवरी को खां के रामपुर स्थित फार्महाउस से सात भैंसें चोरी होने के मामले में परिसर के रखरखावकर्ता के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।

बाद में पुलिस ने खोजी कुत्तों की मदद से, और तमाम ताकत झोंकते हुए दो ही दिन में खां की भैंसों को ढूंढ लिया था। इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में एक दारोगा तथा दो कांस्टेबल को लाइनहाजिर कर दिया गया था। मुजफ्फरनगर दंगों तथा प्रदेश में आये दिन आपराधिक घटनाएं होने के बीच भैंसों को ढूंढने में पुलिस की इस कदर मुस्तैदी को लेकर मीडिया ने सरकार की जमकर खिंचाई की थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You