नोटबंदी पर हंगामा: नायडू बोले-विपक्ष के पास मुद्दा नहीं,राजनाथ दे सकते हैं संसद में बयान

  • नोटबंदी पर हंगामा: नायडू बोले-विपक्ष के पास मुद्दा नहीं,राजनाथ दे सकते हैं संसद में बयान
You Are HereTop News
Friday, November 18, 2016-2:27 PM

नई दिल्ली: नोटबंदी के मुद्दे पर मत विभाजन के प्रावधान वाले नियम के तहत चर्चा कराने की मांग को लेकर कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, वाम दलों समेत विपक्षी दलों के भारी शोर-शराबे के कारण आज लोकसभा की कार्रवाई एक बार के स्थगन के बाद करीब साढ़े 12 बजे पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कार्रवाई स्थगित करके नोटबंदी पर चर्चा कराने के विपक्षी सदस्यों के प्रस्ताव को खारिज कर दिया।

राज्यसभा- इस बीच राज्यसभ में हो रहे हंगामे को लेकर केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला। नायडू ने कहा कि सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है। पीएम के राज्यसभा बयान की कांग्रेस की मांग की आलोचना करते हुए नायडू ने कहा कि जब भी जरूरत होती है पीएम हस्तक्षेप कर बयान देते हैं लेकिन विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है इसलिए हंगामा कर रहे हैं। गुलाम नबी आजाद के बयान पर वेंकैया नायडू ने निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस पार्टी बताए कि यह बयान गुलाम नबी आजाद का व्यक्तिगत था या पार्टी साथ है। वहीं खबर है कि नोटबंदी के मुद्दे पर अगले हफ्ते जब भी बहस होगी केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह चर्चा में हस्तक्षेप करेंगे और दोनों सदनों में जवाब देंगे।

वे 500 और 1000 की नोट बंदी पर आतंकियों, अलगाववादी ताकतों, डी कंपनी और नक्सलियों की कैसे कमर टूटी है इस बारे में अपनी बात रखेंगे। गृह मंत्रालय ने खुफिया सूचना के आधार पर पूरी रिपोर्ट तैयार की है। इससे पहले, राज्यसभा में भाजपा के सदस्यों ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बयान पर उनसे माफी की मांग की। गौरतलब है कि गुरुवार को गुलाब नबी आजाद ने नोटबंदी की तुलना आतंकी हमलों से की थी जिसका सत्ता पक्ष के सदस्यों ने विरोध किया। गुरुवार को भी विपक्षी सदस्यों ने नियम 56 के तहत संसद में चर्चा कराने की मांग के साथ हंगामा किया और संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही दिनभर नहीं चलने दी. सरकार इस मामले पर नियम 193 के तहत चर्चा को तैयार थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You