आडवाणी के लिए कुर्सी छोड़ खड़े हो गए PM, नहीं उठे जेटली और नायडू

  • आडवाणी के लिए कुर्सी छोड़ खड़े हो गए PM, नहीं उठे जेटली और नायडू
You Are HereNational
Wednesday, November 23, 2016-2:16 PM

नई दिल्ली: मंगलवार को भाजपा की संसदीय बोर्ड की बैठक हुई जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी पर अपनी बात रखी। इस बैठक में पार्टी के सभी वरिष्‍ठ नेता व केंद्रीय मंत्री माैजूद रहे। बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह एक साथ बैठे थे। पीएम के बगल वाली कुर्सी खाली थी और उसके बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू और वित्तमंत्री अरुण जेटली बैठे हुए थे। तभी कुछ देर बाद भाजपा के भीष्मपितामह कहे जाने वाले वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी भी बैठक में हिस्‍सा लेने पहुंचे। वह अरुण जेटली के आगे खाली पड़ी कुर्सी की तरफ बढ़ रहे थे कि मोदी अपनी कुर्सी से खड़े हो गए और आडवाणी को उनके पास की कुर्सी पर बैठने के लिए बुलाया।

जेटली और नायडू ने भी आडवाणी से मोदी के बगल वाली कुर्सी पर बैठने को कहा। इसके बाद आडवाणी आगे बढ़े और बैठक के दौरान पीएम मोदी के बगल वाली कुर्सी पर बैठे रहे। हालांकि पीएम मोदी तो आडवाणी के सम्‍मान में कुर्सी छोड़कर खड़े हो गए लेकिन जेटली और वेंकैया अपनी-अपनी कुर्स‍ियों पर जमे रहे। दोनों नेताओं ने बैठे-बैठे ही आडवाणी को माेदी के बगल में खाली पड़ी कुर्सी पर बैठने का इशारा किया।

बता दें कि पीएम मोदी नोटबंदी पर अपने दिए संबोधन के दौरान तीन बार भावुक हुए और बोले कि जनता अफवाहों से बचे और इस मुद्दे को सर्जिकल स्ट्राइक के साथ मत जोड़ा जाए। पीएम ने भाजपा सांसदों से कहा कि वे इस बारे में जनता को जागरूक करें और इस कदम के फायदे बताएं। नोटबंदी कालेधन और भ्रष्‍टाचार के खिलाफ लड़ाई का अंत नहीं है, बल्कि यह शुरुआत है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You