हम गरीबी से लड़ रहे हैं, पाकिस्तान हमसे लड़ रहा हैः सुषमा

  • हम गरीबी से लड़ रहे हैं, पाकिस्तान हमसे लड़ रहा हैः सुषमा
You Are HereNational
Saturday, September 23, 2017-10:00 PM

न्यूयॉर्कः संयुक्त राष्ट्र महासभा में संबोधित करते हुए भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आतंकवाद को लेकर पर पाकिस्तान एक बार फिर कड़ा प्रहार किया। उन्होंने कहा कि बेगुनाहों का खून बहाने वाला पाकिस्तान हमें मानवाधिकार का पाठ पढ़ा रहा है। सुषमा ने अपने संबोधन में कहा कि हम गरीबी से लड़ रहे हैं, लेकिन पाकिस्तान हमसे लड़ रहा है।

सुषमा स्वराज ने कहा, 'पाकिस्तान के पीएम ने कहा था कि जिन्ना ने पाकिस्तान को शांति और दोस्ती की नीति विरासत में दी थी। यह तो इतिहास जानता है कि जिन्ना ने कैसी विरासत दी थी लेकिन मैं याद दिलाना चाहती हूं कि पीएम मोदी ने शांति और दोस्ती की नीयत जरूर दिखाई थी। कहानी बदरंग किसने की, अब्बासी साहब इसका जवाब दें।' सुषमा स्वराज ने शिमला समझौता और लाहौर घोषणापत्र का जिक्र करते हुए कहा कि हर मामले को द्विपक्षीय सुलझाने की बात हुई थी लेकिन पाकिस्तान ने हमेशा इसका उल्लंघन किया। 

पाकिस्तान की पहचान बनी दहशतगर्दी 
सुषमा स्वराज ने अपने संबोधन में पाकिस्तान से ऐसे सवाल पूछे जिसका जवाब शायद ही पड़ोसी मुल्क के पास हो। सुषमा ने कहा कि हैवानियत की हदें पार कर सैकड़ों मासूमों को मौत के घाट उतारने वाला आज यहां (यूएन में) खड़ा होकर हमे मानवता सिखा रहा है। सुषमा ने कहा, 'सभापति जी मैं पाकिस्तान से एक सवाल पूछना चाहती हूं कि क्या कभी सोचा कि भारत और पाकिस्तान एक साथ आजाद हुए थे लेकिन आज भारत की पहचान आईटी के सुपर पावर के रूप में बनी जबकि पाकिस्तान की दहशतगर्द मुल्क के रूप में हुई है। 

हमने आईआईटी बनवाए पाकिस्तान ने  आतंकी ठिकाना
सुषमा ने कहा कि हमने आईआईटी, आईआईएम, एम्स, बनाए पाकिस्तान ने लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और आतंकवादी ठिकाने बनाए। विदेश मंत्री यहीं नहीं रुकीं। सुषमा ने कहा कि हमने स्कॉलर्स पैदा किए, साइंटिस्ट पैदा किए, इंजिनियर पैदा किए, डॉक्टर पैदा किए, पाकिस्तान वालों आपने दहशतगर्त पैदा किए।

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You