<

नर्सरी दाखिले के ड्रा पर लगाई गई रोक को हटाने से कोर्ट इन्कार

  • नर्सरी दाखिले के ड्रा पर लगाई गई रोक को हटाने से कोर्ट इन्कार
You Are HereNational
Friday, March 28, 2014-10:28 PM
 नई दिल्ली :  दिल्ली हाईकोर्ट ने नर्सरी दाखिले के ड्रा पर लगाई गई रोक को हटाने से इन्कार कर दिया है। शुक्रवार को सिबलिंग व एलुमनाई कोटा को चुनौती देने वाली याचिकाएं वापस ले ली गई, क्योंकि सरकार ने बताया कि साठ प्रतिशत दाखिले 70 अंक वाले बच्चों के हुए हैं। ऐसे में यह नहीं कहा जा सकता है कि सिबलिंग व एलुमनाई अंक के तहत बहुत ज्यादा दाखिले हुए हैं।
 
शुक्रवार को नर्सरी दाखिले को लेकर विभिन्न पक्षों ने हाईकोर्ट के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश बीडी अहमद व न्यायमूर्ति सिद्धार्थ मृदुल की खंडपीठ के समक्ष अपनी-अपनी दलीलें पेश की। सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद खंडपीठ ने दाखिले के ड्रा पर लगाई गई रोक की अवधि 2 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दी है।
 
खंडपीठ ने इस मामले में दिल्ली सरकार से कहा है कि पूर्व में निकाले गए ड्रा के तहत जिन बच्चों का दाखिला हो चुका है, उनकी जानकारी सरकार अपनी वेबसाइट पर डाले। साथ ही सरकार से कहा है कि इंटर-स्टेट कोटा खत्म होने के कारण जिन बच्चों का हित प्रभावित हुआ है, उनके लिए सरकार कोई समाधान खोजें।
 
हाईकोर्ट के समक्ष बच्चों के परिजनों की ओर से दलील दी गई कि उनके बच्चों का दाखिला हो चुका है। ऐसे में वह फिर से ड्रा में भाग क्यों ले? वहीं इटर-स्टेट कोटा खत्म होने के बाद इस कोटे के तहत बची सीटों के लिए नया ड्रा निकालने के सुझाव का उन परिजनों ने विरोध किया है, जिन्होंने इस कोटे के तहत अप्लाई किया था। उनका कहना है कि इस कोटे की सीट के लिए अगर सभी बच्चों को ड्रा में शामिल कर लिया गया तो उनके बच्चों का हित प्रभावित होगा। इसलिए सिर्फ इन सीट के लिए ड्रा न निकाला जाए।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You