<

बाहरी उम्मीदवार लोकतंत्र के लिए खतरा : अखिलेश

  • बाहरी उम्मीदवार लोकतंत्र के लिए खतरा : अखिलेश
You Are HereNational
Wednesday, April 02, 2014-1:57 AM

लखनऊ (नासिर): उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी ने आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली तथा उनके बेटे राहुल गांधी के चुनाव क्षेत्र अमेठी से सपा का प्रत्याशी नहीं उतारने का ऐलान किया और भारतीय जनता पार्टी द्वारा इन क्षेत्रों से बाहरी उम्मीदवारों को चुनाव लड़ाए जाने को लोकतंत्र के लिए खतरा बताया।

सपा के प्रदेश अध्यक्ष व राज्य के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि लोकसभा क्षेत्र के लोगों का अपने जनप्रतिनिधि से गहरा सम्बन्ध होता है। वह अ'छे-बुरे समय पर जनता के साथ खड़ा होता है लेकिन इस बार भाजपा ने कई जगह बाहरी उम्मीदवारों को मौका दिया है, हो सकता है कि बाहर की कम्पनी ने कुछ सुझाव दिया हो। जिनका जनता और क्षेत्र से कोई सम्बन्ध नहीं उन्हें प्रत्याशी बनाया गया है। यह लोकतंत्र के लिए खतरा है। गुजरात के शेर पर उत्तर प्रदेश में काबू पाने में मुश्किल सम्बन्धी भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी के बयान पर पलटवार करते हुए अखिलेश ने कहा कि शेरों के बदले गुजरात सरकार को लकड़बग्घे दिए गए थे, मोदी यह बात क्यों नहीं बताते। 

गौरतलब है कि मोदी ने आज बरेली में एक जनसभा में कहा था कि गुजरात के शेर को सम्भालना उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के बस का रोग नहीं है। इसलिए उन्होंने तय किया है कि इस शेर से डर लग रहा है लिहाजा उसको तो पिंजरे में ही रखना पड़ेगा। गुजरात का शेर शेरदिल लोगों के साथ जीना चाहता है। अखिलेश ने कहा कि गुजरात के शेर को इटावा में 3 हजार एकड़ क्षेत्र में बनने वाली लायन सफारी में रखा जाएगा। फिलहाल वे चिडिय़ाघर के पिंजरे में हैं। उन्होंने शेरों द्वारा अभिवादन किए जाने सम्बन्धी सपा के प्रान्तीय प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी के बयान पर मजाकिया लहजे में कहा कि हम और चौधरी साहब चिडिय़ाघर में शेर देखने पहुंचे थे, तब शेरों ने दहाड़ लगाई थी। वन विभाग के अधिकारियों ने बताया था कि शेर आपका अभिवादन कर रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You