वाराणसी में भगवा ध्वज लहराना इतना भी आसान नहीं

  • वाराणसी में भगवा ध्वज लहराना इतना भी आसान नहीं
You Are HereUttar Pradesh
Wednesday, April 02, 2014-9:27 AM

वाराणसी: हालांकि वाराणसी को भाजपा का गढ़ माना जा रहा है लेकिन ये सच है कि पिछले कुछ चुनावों में भगवा ध्वज यहां फहराने में यहां पार्टी को दिक्कतों का सामना करना पड़ा है।

राम लहर के बाद से यदि 2004 को छोड़ दिया जाए तो यहां पर भाजपा लगातार जीतती रही है। एक बार यहां इस दौरान सीपीएम ने भी भाजपा को टक्कर दी है। यहां 2009 में मुरली मनोहर जोशी केवल 17,211 मतों से हारे थे और फर्क केवल 2.5 प्रतिशत मतों का था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You