दंगों पर दंगल, मोदी और मुलायम आमने-सामने

  • दंगों पर दंगल, मोदी और मुलायम आमने-सामने
You Are HereUttar Pradesh
Monday, April 07, 2014-12:46 PM

नई दिल्ली: रविवार के दिन राजनीतिक अखाड़े का केंद्र उत्तर प्रदेश का पश्चिमी इलाका रहा। एसपी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव मुजफ्फरनगर दंगों के सात महीने बाद इस इलाके में पहुंचे और जमकर बीजेपी और नरेंद्र मोदी को कोसा। वहीं नरेंद्र मोदी ने अलीगढ़ और विजनौर में चुनावी रैली कर बीएसपी, एसपी और कांग्रेस को एक ही थैली का चट्टा-बट्टा बताया। मुजफफ्रऩगर दंगों के सात महीनों बाद और इलाके में चुनाव से महज़ 4 दिन पहले समाजवादी पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव मुजफ्फरनगर पहुंचे। दंगों में मारे गए लोगों के लिए अफसोस जताते हुए मुलायम ने दावा किया कि उन्होंने दंगा पीड़ितों के लिए जितना किया, उतना किसी भी सरकार ने नहीं किया।

अपने भाषण में मुलायम ने एक बार भी कांग्रेस और बीएसपी का नाम नहीं लिया। उनके निशाने पर केवल बीजेपी और नरेंद्र मोदी रहे। वहीं बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के दावेदार नरेंद्र मोदी ने अपनी रैलियों में कांग्रेस, एसपी और बीएसपी तीनों को आड़े हाथों लिया। उन्होंने दंगों के मामले में उत्तर प्रदेश को अव्वल बताते हुए कहा कि मुलायम की नाक के नीचे 250 से ज़्यादा दंगे हुए। यूपी में 80 सीट होने के नाते कहा जाता है कि दिल्ली की सत्ता का रास्ता यहीं से होकर गुजरता है। राजनीतिक दल भी इसी कारण अपने पक्ष में हवा बहाने में जुटे हैं। मुजफ्फरनगर दंगों में जान भी आम आदमी की गई थी और परेशानी भी आम आदमी को हुई थी, लेकिन अब चुनावी समर में आम आदमी के उस दर्द को राजनीतिक दल अपने अपने फायदे के हिसाब से भुलाने में जुटे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You