राणा को लेकर कप्तान रोहित और मांजरेकर कर बैठे बड़ी भूल

  • राणा को लेकर कप्तान रोहित और मांजरेकर कर बैठे बड़ी भूल
You Are HereSports
Friday, April 21, 2017-5:44 PM

इंदौर: मुंबई की पंजाब के खिलाफ आठ विकेट की धमाकेदार जीत में हर कोई मुंबई के इंग्लिश बल्लेबाज जोस बटलर की 77 रन की पारी की सराहना कर रहा है लेकिन सात छक्कों सहित नाबाद 62 रन ठोकने वाले युवा नीतीश राणा का उनके कप्तान रोहित शर्मा ने जिक्र तक नहीं किया।  पंजाब की टीम ने अपने दूसरे घरेलू मैदान इंदौर में चार विकेट पर 198 रन का मजबूत स्कोर बनाया था जिसे मुंबई ने 15.3 ओवर में ही दो विकेट पर 199 रन बनाकर पार कर लिया। 

बटलर ने 37 गेंदों पर सात चौकों और पांच छक्कों की मदद से 77 रन की शानदार पारी खेली और मैन आफ द मैच बने जबकि राणा ने मात्र 34 गेंदों में सात छक्के उड़ाते हुये नाबाद 62 रन ठोके। दिल्ली के बायें हाथ के 23 वर्षीय बल्लेबाज राणा की इस पारी का उतना ही महत्व था जितना बटलर की पारी का। राणा के दमदार छक्कों के कारण ही मुंबई ने मैच को 16वें ओवर में समाप्त कर दिया। लेकिन हैरानी की बात रही कि मैच के बाद के प्रेजेंटेशन में ना तो एंकर संजय मांजरेकर ने राणा का एक बार भी जिक्र किया और न ही राणा के कप्तान रोहित ने उनकी पारी का कोई उल्लेख किया।

राणा इस समय छह मैचों में 255 रन बनाकर सबसे आगे चल रहे हैं और सर्वाधिक रनों के लिये औरेंज कैप अभी उनके सिर सजी हुई है। प्रेजेंटेशन में मांजरेकर ने बटलर के 77 रन , पार्थिव पटेल के संक्षिप्त लेकिन तेज 37 रन और पंजाब के हाशिम अमला की नाबाद 104 रन की शतकीय पारी के बारे में तमाम सवाल पूछे लेकिन वह राणा की नाबाद 62 रन की पारी को जैसे भूल ही गये। मांजरेकर बेशक राणा के बारे में कुछ पूछना भूल गये लेकिन मुंबई के कप्तान रोहित का फर्ज था कि वह अपने इस युवा बल्लेबाज की विस्फोटक पारी पर दो शब्द जरूर कहें। लेकिन रोहित बटलर और पार्थिव की तारीफ तो करते रह गये मगर उन्होंने राणा पर कोई शब्द नहीं कहा। 

उन्होंने अपनी गेंदबाजी की कमजोरी का भी जिक्र किया, पावर प्ले में बने 82 रनों का जिक्र भी किया लेकिन वह राणा को सिरे से भूल गये जो काफी हैरानी में डालने वाला सबब रहा। खैर यह अच्छी बात रही कि मैच के बाद स्टूडियो कार्यक्रम में दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर और पूर्व ऑलराउंडर रवि शास्त्री ने राणा की बल्लेबाजी की भरपूर सराहना की। गावस्कर ने कहाÞ बड़े स्कोर का पीछा करते समय बटलर और पार्थिव ने निश्चित रूप से मुंबई को अच्छी शुरूआत दी लेकिन राणा ने अपने लंबे छक्कों से लक्ष्य को आसान बना दिया।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You