DLF की इकाई की किराया आय बीते वित्त वर्ष में 10% बढ़कर 3,350 करोड़ रुपए पर

Edited By jyoti choudhary, Updated: 29 May, 2022 03:59 PM

rental income of dlf s unit up 10 at rs 3 350 crore in last fiscal

डीएलएफ की किराए पर संपत्तियां देने वाली इकाई डीएलएफ साइबर सिटी डेवलपर्स लि. (डीसीसीडीएल) की किराया आमदनी बीते वित्त वर्ष 2021-22 में 10 प्रतिशत बढ़कर 3,350 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। कंपनी ने कहा है कि शॉपिंग मॉल कारोबार में सुधार से उसकी किराया आमदनी...

नई दिल्लीः डीएलएफ की किराए पर संपत्तियां देने वाली इकाई डीएलएफ साइबर सिटी डेवलपर्स लि. (डीसीसीडीएल) की किराया आमदनी बीते वित्त वर्ष 2021-22 में 10 प्रतिशत बढ़कर 3,350 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। कंपनी ने कहा है कि शॉपिंग मॉल कारोबार में सुधार से उसकी किराया आमदनी बढ़ी है। डीएलएफ की ज्यादातर किराए वाली वाणिज्यिक संपत्तियां डीसीसीडीएल के तहत ही आती हैं। 

डीसीसीडीएल डीएलएफ और सिंगापुर के सॉवरेन संपदा कोष जीआईसी का संयुक्त उद्यम है। इस संयुक्त उद्यम के पास 3.79 करोड़ वर्ग फुट का पोर्टफोलियो है। इसमें 3.40 करोड़ वर्ग फुट कार्यालय स्थल और शेष खुदरा स्थल हैं। इस संयुक्त उद्यम में डीएलएफ की हिस्सेदारी 67 प्रतिशत है। शेष हिस्सेदारी जीआईसी के पास है। निवेशकों के समक्ष एक प्रस्तुतीकरण के अनुसार, डीसीसीडीएल की किराया आमदनी बीते वित्त वर्ष में बढ़कर 3,350 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। 2020-21 में यह 3,029 करोड़ रुपए रही थी। 

कुल किराया आमदनी में कार्यालय स्थल से आय पांच प्रतिशत बढ़कर 2,889 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। इससे पिछले वित्त वर्ष में यह 2,753 करोड़ रुपए रही थी। वहीं खुदरा रियल एस्टेट क्षेत्र की किराया आमदनी 67 प्रतिशत बढ़कर 461 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, जो 2020-21 में 276 करोड़ रुपए रही थी।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!