हरियाणा में दाखिल होते ही लोग कहें हरियाणा आ गया और नशे का नाम नहीं लेना, ऐसी स्थिति देखना चाहता हूं: विज

Edited By Ajay Chandigarh,Updated: 26 Jun, 2022 07:50 PM

virtually addressed the launching ceremony of the state action plan

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि ‘हरियाणा में नशे का कोई नाम भी न लें, लोग कहें कि हरियाणा की सीमा आ गई और नशे का नाम मुंह पर भी नहीं होना चाहिए, ऐसी स्थिति मैं हरियाणा में पैदा करना और देखना चाहता हूं’। विज आज हरियाणा स्टेट नार्कोटिक्स...

चंडीगढ़,(बंसल): हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि ‘हरियाणा में नशे का कोई नाम भी न लें, लोग कहें कि हरियाणा की सीमा आ गई और नशे का नाम मुंह पर भी नहीं होना चाहिए, ऐसी स्थिति मैं हरियाणा में पैदा करना और देखना चाहता हूं’। विज आज हरियाणा स्टेट नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा अंतर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस के अवसर पर मधुबन, करनाल में आयोजित ‘मिशन नशा मुक्त हरियाणा’ के स्टेट एक्शन प्लान के लांङ्क्षचग समारोह को संबोधित कर रहे थे। कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद गृह मंत्री अनिल विज ने अपने आवास से समारोह में वर्चुअल हिस्सा लिया।

 

 
विज ने कहा कि जो लोग समाज में नशे रूपी इस जहर को घोल रहे हैं, हमें उनको पकडऩा है। हम सब मिलकर ही इस कार्य को कर सकते हैं। आज अंतर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस है और सारे विश्व में नशे के विरुद्ध कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। मगर, उनका मानना है कि नशे के विरुद्ध लड़ाई केवल एक दिन मनाने से नहीं जीती जा सकती। हमें नशे पर प्रहार हर रोज करना है। मंत्री ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल का अभिनंदन करते हुए कहा कि हम सब मिलकर हरियाणा को नशामुक्त करेंगे, हम हरियाणा को खुशहाल और आगे बढ़ते देखना चाहते हैं। इससे पहले, विज ने कार्यक्रम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, सांसद संजय भाटिया, विधायक हरविंद्र कल्याण, मुख्य सचिव संजीव कौशल, डी.जी.पी. पी.के. अग्रवाल, ए.डी.जी.पी. श्रीकांत जाधव का स्वागत किया। 

 


जन आंदोलन बनेगा, तभी नशा खत्म होगा 
गृह मंत्री ने कहा कि सभी विभाग, समाज के सभी अंग जब नशे के खिलाफ एकजुट होंगे और तब यह जन आंदोलन बनेगा, तभी इस नशे को यहां से उखाड़ कर फैंका जा सकता है। नशे के खिलाफ तैयार योजना में पंचायत, वार्ड से लेकर प्रदेशस्तर तक समितियां बनाने की बात कहीं गई है। गृह मंत्री ने कहा कि योजना बनाएं और फिर योजना पर काम करें, यह दोनों चीजें आवश्यक हैं। एन.सी.बी. एवं श्रीकांत जाधव की टीम ने एक फुलपू्रफ योजना प्रदेश के सामने रख दी है और हम सबको मिलकर इस पर काम करना होगा। पुलिस ने बहुत सारे केस पकड़े हैं। जिन लोगों ने नशे के माध्यम से संपत्ति बनाई हमने उन्हें अटैच भी किया और बुलडोजर भी चलाए हैं। मगर, फिर भी हम अपने इस संगठन को और मजबूत करना चाहते हैं।
 

 

पंचायत, वार्ड व शहरी समितियां बनेंगी मददगार
गृह मंत्री ने कहा कि प्रतिस्पर्धा परीक्षाओं में बेटियां आगे आ रही हैं जो कि खुशी की बात है। मगर, बेटे कहां जा रहे हैं, बेटे पीछे क्यों रह रहे हैं। कहीं वह गलत आदतों में तो नहीं पड़ते जा रहे, हमें उनके बारे में सोचना होगा। हमें सभी स्कूल व कालेजों में हाजिरी का भी रिकॉर्ड चैक करना होगा कि कौन-कौन से विद्यार्थी है जो नियमित गैर-हाजिर रह रहे हैं। हमें उन पर भी ध्यान देना होगा और नजर रखनी होगी। इस कार्य के लिए हमारी पंचायत समितियां, वार्ड समितियां, शहर समितियां मदद करेंगी और हम बाकायदा इन समितियों को काम देंगे। ऐसे ही समितियां बनाकर छोड़ा नहीं जाएगा बल्कि चैक करवाया जाएगा कि कहीं युवा व समाज गलत रास्ते पर तो नहीं जा रहे, कहीं वह भटक तो नहीं रहे। गृह मंत्री ने ए.डी.जी.पी. श्रीकांत जाधव को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने काफी सोच कर एवं तकनीक का सहारा लेकर हर पहलु पर विचार किया और नशे के खिलाफ एक्शन प्लान तैयार किया। 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!