Motivational Concept: क्रोध और प्रेम का फर्क!

Edited By Jyoti, Updated: 21 Jun, 2022 04:42 PM

motivational concept in hindi

एक गुरु अपने शिष्यों के साथ गंगा नदी के तट पर नहाने पहुंचे। वहां एक ही परिवार के कुछ लोग अचानक आपस में बात करते-करते एक-दूसरे पर क्रोधित हो उठे और जोर-जोर से चिल्लाने लगे। गुरु यह देख

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
एक गुरु अपने शिष्यों के साथ गंगा नदी के तट पर नहाने पहुंचे। वहां एक ही परिवार के कुछ लोग अचानक आपस में बात करते-करते एक-दूसरे पर क्रोधित हो उठे और जोर-जोर से चिल्लाने लगे। गुरु यह देख तुरन्त पलटे और अपने शिष्यों से पूछा क्रोध में लोग एक-दूसरे पर चिल्लाते क्यों हैं?

शिष्य कुछ देर सोचते रहे। फिर एक ने उत्तर दिया, क्योंकि हम क्रोध में शांति खो देते हैं इसलिए। पर जब दूसरा व्यक्ति हमारे सामने ही खड़ा है तो भला उस पर चिल्लाने की क्या जरूरत है, जो कहना है वह आप धीमी आवाज में भी कह सकते हैं।

गुरु ने इस पर पुन: प्रश्र किया। कुछ और शिष्यों ने भी उत्तर देने का प्रयास किया पर बाकी लोग संतुष्ट नहीं हुए। अंतत: गुरु ने समझाया जब दो लोग आपस में नाराज होते हैं तो उनके दिल एक-दूसरे से बहुत दूर हो जाते हैं। और इस अवस्था में वे एक-दूसरे को बिना चिल्लाए नहीं सुन सकते। वे जितना अधिक क्रोधित होंगे उनके बीच की दूरी उतनी ही अधिक हो जाएगी और उन्हें उतनी ही तेजी से चिल्लाना पड़ेगा।

वहीं जब दो लोग प्रेम में होते हैं तब वे चिल्लाते नहीं बल्कि धीरे-धीरे बात करते हैं, क्योंकि उनके हृदय करीब होते हैं, उनके बीच की दूरी नाममात्र की रह जाती है। जब वे एक-दूसरे को हद से भी अधिक चाहने लगते हैं तब वे बोलते भी नहीं, वे सिर्फ एक-दूसरे की तरफ देखते हैं और सामने वाले की बात समझ जाते हैं।
 

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!