किस्मत हो तो ऐसी!  जेब में रखे Smartphone ने बचा ली यूक्रेनी सैनिक की जान, गोली सीधे उसी पर लगी, देखें Shocking Video

Edited By Anil dev, Updated: 21 Apr, 2022 02:34 PM

international news punjab kesari ukraine russia vladimir putin

रूस ने यूक्रेन के पूर्वी औद्योगिक क्षेत्र में कोयला खदानों और कारखानों पर नियंत्रण हासिल करने के लिए हमले तेज कर दिए। उसने शहरों और कस्बों के पास सैकड़ों मील लंबे मोर्चे को निशाना बनाया है।

इंटरनेशनल डेस्क; रूस ने यूक्रेन के पूर्वी औद्योगिक क्षेत्र में कोयला खदानों और कारखानों पर नियंत्रण हासिल करने के लिए हमले तेज कर दिए। उसने शहरों और कस्बों के पास सैकड़ों मील लंबे मोर्चे को निशाना बनाया है। इसी कड़ी में एक और घटना सामने आई है जिसने सभी को चौंका कर रख दिया। दरअसल एक यूक्रेनी सैनिक अपनी पॉकेट में रखे फोन को बाहर निकालकर दिखाता हुआ नज़र आता है। सैनिक के फोन में गोली धंसी हुई होती है। फोन में गोली लगने के कारण सैनिक की जान बच जाती है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। 


वीडियो में दिख रहा है कि दो सैनिक बात करते दिखाई दे रहे हैं। इनमें से एक के स्मार्टफोन में 7.62 मिमी की गोली फंसी हुई है। यह भी दिख रहा है कि गोली फोन में घुसी हुई है और उसका एक सिरा बाहर की तरफ है। वीडियो देखकर ऐसा लग रहा है कि अगर फोन नहीं होता तो इस सैनिक की जान चली जाती। इस वीडियो को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म रेडिट पर सबसे पहले शेयर किया गया है। यूक्रेनी सैनिक आपस में बात कर रहे हैं। दोनों अपनी भाषा में एक दूसरे का हाल पूंछते हैं। तभी एक सैनिक अपनी पॉकेट में रखा फोन निकलाकर दूसरे सैनिक को दिखाता है। फोन के पिछले हिस्से में एक गोली धंसी हुई नज़र आती है। इस वीडियो के वायरल होने के बाद हर किसी की आंखें फटी की फटी रह गई है। 

मारियुपोल में जीत के लिए यूक्रेन के पास हथियारों की कमी: जेलेंस्की 
वहीं यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर ज़ेलेंस्की ने बुधवार को कहा कि उनके देश की सेना के पास मारियुपोल में रूसी सेना को हराने के लिए पर्याप्त उपयुक्त और भारी हथियार नहीं हैं। सीएनएन ने राष्ट्रपति वलोदिमिर ज़ेलेंस्की के हवाले से कहा,'इस समय हमारे पास मारियुपोल को मुक्त करने के लिए पर्याप्त हथियार नहीं हैं। दूसरा रास्ता कूटनीतिक है। अभी तक रूस इस पर राजी नहीं हुआ है।' कीव में यूरोपीय संघ के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल के साथ बातचीत में श्री जेलेंस्की ने कहा,'हम नहीं जानते कि कब मारियुपोल को आजाद करा पाएंगे। मैं यह खुले तौर पर कहता हूं कि मारियुपोल के सभी लोग हमारी जीत चाहते हैं, वे एक स्वतंत्र शहर चाहते हैं, उनमें से कोई भी दुश्मन के सामने आत्मसमर्पण करने नहीं जा रहे हैं।‘‘ उन्होंने कहा कि कुछ हज़ार नागरिक वहीं फंसे हैं, जो रूसी निकासी गलियारों के माध्यम से शहर से निकल सकते हैं। 

रूस ने यूक्रेन के पूर्वी हिस्से पर हमले तेज किए 
यूक्रेन के बंदरगाह शहर मारियुपोल से हजारों लोगों को निकालने की उम्मीद जगने के बीच रूस ने इस पूर्वी औद्योगिक केंद्र पर नियंत्रण के लिए हमले तेज़ कर दिए। मारियुपोल पर हमले तेज करने के अलावा रूसी बलों ने डोनबास के मोर्चे पर अपने हमले तेज़ कर दिए हैं जहां कोयले की खदाने, धातु संयंत्र और कारखाने हैं जो यूक्रेन की अर्थव्यवस्था के लिए अहम है। अगर रूस इस क्षेत्र पर कब्जा करने के अपने प्रयास में सफल हो जाता है तो उससे यूक्रेन की राजधानी कीव पर कब्जा करने के असफल प्रयास के बावजूद राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को एक बड़ी जीत मिलेगी। यूक्रेन के सैनिकों ने मंगलवार को कहा था कि रूसी सेना ने एक विशाल इस्पात संयंत्र के बचे हुए हिस्से को समतल करने के लिए भारी बम बरसाए और एक अस्थायी अस्पताल पर भी हमला किया जहां लोग ठहरे हुए थे। इन खबरों की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो सकी। 

 

Related Story

Test Innings
England

India

Match will be start at 01 Jul,2022 04:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!