Ukraine War:रूस ने ओडेसा में दागी मिसाइलें, कयामत की चेतावनी को तैयार पुतिन ? 9 मई को लेकर खौफ में यूरोप !

Edited By Tanuja, Updated: 08 May, 2022 12:34 PM

putin to send doomsday warning to west at russia s ww2 victory parade

रूस की सेना ने शनिवार को दक्षिणी यूक्रेन के ओडेसा शहर में क्रूज मिसाइलें दागी और मारियुपोल में घेरे गए इस्पात संयंत्र पर बमबारी की।...

इंटरनेशनल डेस्कः रूस की सेना ने शनिवार को दक्षिणी यूक्रेन के ओडेसा शहर में क्रूज मिसाइलें दागी और मारियुपोल में घेरे गए इस्पात संयंत्र पर बमबारी की। विजय दिवस समारोह से पहले रूस को इस बंदरगाह पर कब्जा जमाने की उम्मीद है। अधिकारियों ने बताया कि संयंत्र से आखिर में बची महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों को निकाल लिया गया है लेकिन यूक्रेन के लड़ाके वहीं फंसे हुए हैं। वहीं, यूक्रेन की सेना ने काला सागर द्वीप पर रूस के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया है जिसे रूस ने युद्ध के शुरुआती दिनों में अपने कब्जे में ले लिया था।

PunjabKesari

Live Update:-

  • रविवार तड़के कई बार हवाई हमले के सायरन की आवाज सुनी गयी। उपग्रह से ली गयी तस्वीरों के विश्लेषण से पता चलता है कि यूक्रेन काला सागर पर कब्जा करने के रूस के प्रयासों को नाकाम करने के लिए रूसी कब्जे वाले स्नेक आइलैंड को निशाना बना रहा है।
  • मारियुपोल में यूक्रेनी लड़ाकों ने सामरिक रूप से महत्वपूर्ण इस शहर पर रूस के पूर्ण कब्जे से पहले वहां एक इस्पात संयंत्र में फंसे नागरिकों को निकाला। इस शहर पर कब्जे से मॉस्को को क्रीमियाई प्रायद्वीप तक एक जमीनी संपर्क मिल जाएगा।  
  • पश्चिमी सैन्य विश्लेषकों का यह भी कहना है कि यूक्रेन की सेना देश के दूसरे सबसे बड़े शहर खारकीव के आसपास बढ़ रही है, जहां अब भी रूस बमबारी कर रहा है।
  • अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने शनिवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर ‘‘यूक्रेन के खिलाफ अपने बिना उकसावे के और क्रूर युद्ध को न्यायोचित ठहराने की कोशिश के लिए इतिहास को तोड़ने-मरोड़ने'' का प्रयास करने का आरोप लगाया।
  • हाल के दिनों में सबसे भीषण युद्ध पूर्वी यूक्रेन में देखा गया है। रूस का हमला वहां डोनबास क्षेत्र पर केंद्रित है जहां रूस समर्थित अलगाववादी 2014 से लड़ रहे हैं। लुहांस्क क्षेत्र के गवर्नर ने कहा कि रूस के हमले में बिलोगोरिव्का गांव में एक स्कूल तबाह हो गया, जहां 90 लोगों ने शरण ली हुई थी।
  • टेलीग्राम पर जलते हुए मलबे की तस्वीरें पोस्ट करने वाले गवर्नर सेरही हेदई ने कहा कि 30 लोगों को बचाया गया है। आपात सेवाओं ने बाद में बताया कि दो शव बरामद किए गए हैं तथा और लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है।
  • बचाव कार्य रात को निलंबित कर दिया गया लेकिन रविवार को बहाल किया गया। हेदई ने बताया कि प्रिविला शहर में रूस की बमबारी में 11 और 14 वर्ष की आयु के दो लड़के मारे गए जबकि आठ और 12 साल की आयु की दो लड़कियां तथा 69 वर्षीय महिला घायल हो गयीं।
  • रूस ने शनिवार को ओडेसा शहर पर छह क्रूज मिसाइलें दागी। शहर में मंगलवार सुबह तक कर्फ्यू लगा हुआ है। सोशल मीडिया पर पोस्ट की गयी तस्वीरों में काला सागर के इस बंदरगाह शहर पर घना काला धुआं उठता हुआ देखा जा सकता है। ओडेसा नगर परिषद ने बताया कि चार मिसाइलें एक फर्नीचर कंपनी में गिरी और अन्य दो मिसाइलें ओडेसा हवाईअड्डे पर गिरी।


 

PunjabKesari

पुतिन से क्यों खौफजदा हैं यूरोप के देश

रूस- यूक्रेन युद्ध  के बीच 9 मई को लेकर यूरोपीय देशों में टेंशन बढ़ती जा रही है। यूरोपीय देशों ने आशंका जताई है कि 9 मई को विक्टरी डे परेड के दौरान रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन कयामत के दिन की चेतावनी दे सकते हैं। दरअसल 9 मई को रूसी सेना मॉस्को के रेड स्क्वायर पर नाजी जर्मनी के खिलाफ मिली जीत की 77वीं वर्षगांठ मनाएगी। इस दिन रूसी सेना अपने नए-नए हथियारों को दिखा भव्य शक्ति प्रदर्शन भी करने वाली है।  इस अवसर पर व्लादिमीर पुतिन रूसी सेना को संबोधित भी करेंगे। पहले यह आशंका जताई गई थी कि विक्टरी डे परेड के दिन पुतिन यूक्रेन के खिलाफ जंग का ऐलान कर सकते हैं, क्योंकि रूसी सेना अभी तक स्पेशल मिलिट्री ऑपरेशन का नाम देकर हमले कर रही है। यूक्रेन के नेताओं ने चेतावनी दी है कि 77 साल पहले नाजी जर्मनी की हार का जश्न मनाने के लिए सोमवार को आयोजित विजय दिवस के मद्देनजर रूसी हमले और भी बदतर होंगे और राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने लोगों से हवाई हमलों की चेतावनियों को मानने का अनुरोध किया है। 

PunjabKesari

 रूस  ने झुठलाया पश्चिमी देशों का दावा
हालांकि, पश्चिमी देशों के इस दावे पर रूस ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा: "इसकी कोई संभावना नहीं है। यह बकवास है। पेसकोव ने यह भी कहा कि लोगों को उन अटकलों को नहीं सुनना चाहिए कि बड़े पैमाने पर सेना उतारने पर निर्णय हो सकता है। पेसकोव ने कहा कि यह सच नहीं है। हालांकि, रूस के वादों और दावों पर यकीन करना इतना आसान नहीं है, क्योंकि 23 फरवरी की रात तक पुतिन से लेकर रूस के हर नेता और प्रवक्ता एक ही रट लगाए हुए थे कि उनका देश यूक्रेन के खिलाफ कोई भी सैन्य कार्रवाई नहीं करेगा, लेकिन 24 फरवरी को तड़के ही रूसी सेना यूक्रेनी सीमा में दाखिल हो गई थी।
 

PunjabKesari

रूस के लिए विक्टरी डे का महत्व
9 मई को रूस में विक्टरी डे के रूप में मनाया जाता है। द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान इसी दिन रूस की लाल सेना ने नाजी फौज को हराकर अपने देश को बचाया था। तब से लेकर आज तक 9 फरवरी को रूस में विक्टरी डे के रूप में मनाया जाता है। एक अनुमान के मुताबिक, द्वितीय विश्व युद्ध क दौरान अकेले सोवितय रूस के 2.7 करोड़ नागरिकों की मौत हुई थी। तब शायद ही कोई रूसी परिवार ऐसा बचा था, जिसने किसी न किसी करीबी को न खोया हो। इस अवसर पर रूस अब अपनी सैन्य शक्ति का प्रदर्शन करता है।रूसी रक्षा मंत्रालय ने बताया कि विक्टरी डे परेड के दिन सेंट बेसिल कैथेड्रल के ऊपर एक फ्लाई-पास्ट का आयोजन किया जाएगा।  

 

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Kolkata Knight Riders

Lucknow Super Giants

Match will be start at 18 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!