महाराष्ट्र में मंत्रियों के विभागों का आवंटन, फडणवीस के पास गृह-वित्त मंत्रालय, सीएम शिंदे को यह जिम्मा

Edited By rajesh kumar,Updated: 14 Aug, 2022 05:30 PM

after a long wait in maharashtra the division of departments

महाराष्ट्र में रविवार को लंबे इंतजार के बाद शिंदे सरकार के मंत्रिमंडल में विभागों का बंटवारा हो गया है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को MRDC और शहरी विकास विभाग और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को गृह और वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली है।

नेशनल डेस्क: मंत्रिपरिषद में 18 मंत्रियों को शामिल करने के पांच दिन बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने रविवार को विभागों का आवंटन कर दिया। उन्होंने नगर विकास और 11 अन्य विभाग जहां अपने पास रखे हैं, वहीं उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को अहम गृह विभाग आवंटित किया है। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया कि भाजपा नेता फडणवीस वित्त और योजना विभाग भी संभालेंगे।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ही राधाकृष्ण विखे पाटिल नए राजस्व मंत्री होंगे। वह 2019 के विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। शिंदे ने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने के 41 दिन बाद नौ अगस्त को 18 मंत्रियों को शामिल कर अपनी दो सदस्यीय मंत्रिपरिषद का विस्तार किया था। इसमें नौ मंत्री भाजपा से और नौ मंत्री शिवसेना के बागी खेमे से शामिल किए गए थे। मंत्रियों की सूची में किसी महिला का नाम नहीं था।

मुख्यमंत्री ने शहरी विकास विभाग के अलावा सामान्य प्रशासन विभाग, लोक निर्माण विभाग (सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम), सूचना एवं जनसंपर्क, परिवहन, विपणन, सामाजिक न्याय, आपदा प्रबंधन, राहत एवं पुनर्वास, मृदा एवं जल संरक्षण, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन तथा अल्पसंख्यक विकास विभाग अपने पास रखे हैं। फडणवीस, गृह, वित्त और योजना विभागों के अलावा कानून और न्यायपालिका, जल संसाधन, आवास, ऊर्जा और प्रोटोकॉल विभाग भी संभालेंगे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के करीबी माने जाने वाले चंद्रकांत पाटिल नए उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री होंगे। इसके साथ ही वह कपड़ा और संसदीय कार्य विभाग भी देखेंगे। पूर्व में, वह लोकनिर्माण और सहकारिता मंत्री थे। सुधीर मुनगंटीवार को वन, मत्स्य विकास और सांस्कृतिक मामलों के विभाग आवंटित किए गए हैं।

साल 2014-19 तक वह वित्त और योजना के साथ-साथ वन मंत्री भी थे। भाजपा के अतुल सावे को सहकारिता और ओबीसी कल्याण विभाग दिया गया है, जबकि रवींद्र चव्हाण को लोकनिर्माण और खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण विभाग दिया गया है। दोनों विगत में कुछ समय के लिए राज्य मंत्री रहे थे। भाजपा की मुंबई इकाई के पूर्व अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा को पर्यटन विकास, कौशल विकास और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय मिला है। फडणवीस के करीबी गिरीश महाजन को ग्रामीण विकास और पंचायती राज, चिकित्सा शिक्षा और खेल और युवा विकास विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। विजयकुमार गावित को आदिवासी विकास विभाग दिया गया है, जबकि पश्चिमी महाराष्ट्र से भाजपा विधायक सुरेश खाड़े को श्रम विभाग की जिम्मेदारी दी गई है।

शिवसेना के शिंदे के नेतृत्व वाले समूह से दीपक केसरकर स्कूली शिक्षा मंत्री बनाए गए हैं। गुलाबराव पाटिल को जल आपूर्ति और स्वच्छता विभाग दिया गया है, जबकि पूर्व में कृषि मंत्री रहे दादा भुसे अब बंदरगाह और खनन मामलों के मंत्री होंगे। अब्दुल सत्तार को कृषि विभाग दिया गया है। पूर्व में उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री रहे उदय सामंत को उद्योग विभाग दिया गया है। शिंदे खेमे के विवादास्पद नेता संजय राठौड़ खाद्य एवं औषधि विभाग संभालेंगे। राठौड़ पहले उद्धव ठाकरे सरकार में वन मंत्री थे। भाजपा नेताओं द्वारा एक महिला को आत्महत्या के लिए उकसाए जाने का आरोप लगाए जाने के बाद उन्हें इस्तीफा देने के लिए मजबूर होना पड़ा था। तानाजी सावंत को जनस्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, शंभूराज देसाई को आबकारी विभाग और संदीपन भुमरे को रोजगार गारंटी योजना और बागवानी विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। 

Related Story

Trending Topics

India

South Africa

Match will be start at 02 Oct,2022 08:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!