क्या हमारे बच्चों को ईश-निंदा करने वालों का सर कलम करना पढ़ाया जा रहा है? कन्हैयालाल की हत्या पर बोले राज्यपाल

Edited By Anu Malhotra,Updated: 30 Jun, 2022 08:58 AM

rajasthan madarsa arif mohammad khan kanihalal

राजस्थान के उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की सरेआम हत्या के बाद केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि क्या मदरसों में छोटे बच्चों को यह सिखाया जाता है कि ईशनिंदा की सजा सिर कलम करना है।

नेशनल डेस्क: राजस्थान के उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की सरेआम हत्या के बाद केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि क्या मदरसों में छोटे बच्चों को यह सिखाया जाता है कि ईशनिंदा की सजा सिर कलम करना है।  

उन्होंने कहा कि मुस्लिम लॉ कुरान से नहीं आता। खान ने कहा कि इसे विभिन्न लोगों ने ‘एम्पायर’ के वक्त लिखा और इसमें सिर कलम करने की सजा का जिक्र है। 

गौरतलब है कि राजस्थान के उदयपुर में दो व्यक्तियों ने मंगलवार को एक दर्जी की गला काटकर हत्या कर दी थी और घटना के वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिए थे। इन वीडियो में आरोपियों ने कहा था कि उन्होंने इस्लाम के अपमान का बदला लिया है।

खान ने कहा कि अब अगर किसी को 5 या 6 वर्ष की आयु से सिखाया जाए...जिसे वे मुस्लिम लॉ कहते हैं...यह कुरान से नहीं आया। इसे तो अलग-अलग लोगों ने ‘एम्पायर’ के दौरान लिखा और इसमें सिर कलम करने की बात है। यह लॉ मदरसों में बच्चों को पढ़ाया जाता है। 

उन्होंने कहा कि अगर बच्चों को सिखाया जाए, उससे वे प्रभावित हों और वैसा ही व्यवहार करें तो इससे निपटना बेहतर होगा। खान ने कहा कि  यह कोई दैवीय कानून नहीं है। इसे लोगों ने ‘एम्पायर’ के वक्त लिखा। बच्चों को वे बताते हैं कि यह ईश्वर का कानून है।  

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!