नोटबंदी के बाद ICICI में जमा हुए 32,000 करोड़ रुपए

  • नोटबंदी के बाद ICICI में जमा हुए 32,000 करोड़ रुपए
You Are Herebanking
Saturday, November 19, 2016-10:59 AM

नई दिल्लीः नोटबंदी के बाद से देश के टॉप प्राइवेट बैंकों में से एक आई.सी.आई.सी.आई. बैंक को अब तक 32,000 करोड़ रुपए जमा के रूप में प्राप्त हुए हैं। बैंक की एमडी और चीफ एग्जिक्यूटिव चंदा कोचर ने कहा, 'यदि मैं आपको राउंड नंबर में बताऊं तो 500 और 1000 रुपए के नोटों को बंद किए जाने से अब तक हमारे बैंक में लोग 32,000 करोड़ रुपए जमा करा चुके हैं।' बंद किए गए नोटों को बदलने के लिए लंबी लाइन तथा लोगों को हो रही कठिनाइयों को लेकर उनके बीच नाराजगी पर प्रतिक्रिया जताते हुए चंदा ने कहा, ‘‘देश में काफी मुद्रा है लेकिन सभी बैंकों और एटीएम तक इस नई करंसी को पहुंचाने में वक्त लग रहा है।

राहत के लिए मोबाइल एटीएम व्यवस्था शुरू 
उन्होंने कहा कि एटीएम से 500 रुपए निकलने शुरू हो गए हैं और इनके बाजार में पहुंचते ही कैश का दबाव खत्म हो जाएगा और ग्राहकों के लिए स्थिति सुगम होगी। उन्होंने कहा कि हमने लोगों को राहत देने के लिए मोबाइल एटीएम की व्यवस्था शुरू की है, जिन्हें छोटे शहरों में अस्पताल या फिर अन्य किसी सार्वजनिक स्थानों के पास में पार्क किया जा रहा है। कोचर ने कहा कि बड़े पैमाने पर लोग बैंकिंग में डिजिटल प्लेटफॉर्म पर जा रहे हैं। इसके अलावा कारोबारियों की ओर से भी डेबिट और क्रेडिट कार्ड पेमेंट के लिए बड़े पैमाने पर स्वाइप मशीनों की मांग की जा रही है।

बैंकिंग से अछूते इलाकों में खोली जाएंगी शाखाएं 
ग्राहकों की बात करते हुए चंदा कोचर ने कहा कि बड़े पैमाने पर लोग एटीएम कार्ड्स का इस्तेमाल करने लगे हैं, जो लंबे समय से रखे हुए थे। कोचर ने कहा कि आईसीआईसीआई बैंक उन 5,000 इलाकों में अपनी शाखाएं खोलने की तैयारी कर रहा है, जो अब तक बैंकिंग से अछूते हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You