नोटबंदीः फ्लाइट टिकट सेल में 10% की गिरावट

  • नोटबंदीः फ्लाइट टिकट सेल में 10% की गिरावट
You Are Herecompany
Tuesday, November 15, 2016-2:48 PM

नई दिल्लीः नोट बैन के फैसले के बाद एयरलाइंस कंपनियों की सेल में 7-10 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। हालांकि किसी एयरलाइन कंपनी का कोई भी अधिकारी रिकॉर्ड पर कुछ कहने नहीं आया लेकिन सबने एक सी बात की। सबने कहा कि काफी संख्या में लोग जो विंटर सीजन में ट्रैवेल करने की प्लानिंग में लगने वाले थे वे नोटबंदी के बाद अपने पैसों को 'ठिकाने' लगाने में व्यस्त हो गए। इससे अंतर्राष्ट्रीय सफर के साथ-साथ घरेलू हवाई सफर पर भी असर पड़ा है।

एक वरिष्ठ एयरलाइन अधिकारी ने कहा, 'पहले कैश ठिकाने लगाना है, सफर करना उतना जरूरी नहीं है इसलिए जब तक पैसों का सही इंतजाम नहीं हो सकता तब तक टूर और ट्रैवेल को टाला जा सकता है। नोटबंदी के बाद सरकार ने एयरपोर्ट काऊंटर पर 1000 और 500 के नोटों से टिकट बुक कराने की सुविधा उपलब्ध करा दी। हालांकि अगर टिकट कैंसल कराया जाएगा तो टिकट के पैसे वापस नहीं होंगे। इसलिए काऊंटर से भी टिकट बुकिंग में गिरावट आ गई।

विमान कंपनी स्पाइसजेट के प्रवक्ता अजय जसरा ने कहा, 'कुल मिलाकर एयरलाइन इंडस्ट्री की सेल्स 10 प्रतिशत तक घटी है। पहले एजेंटों को टिकट बुकिंग के भुगतान के रूप में कैश मिलते थे, नोट बैन होने के बाद इस पर प्रभाव पड़ा है। एयरपोर्ट पर 500 और 1000 के नोटों से बुक किये गए टिकटों को नॉन-कैंसल और नॉन रिफंडेबल बनाने के बाद वहां भी टिकट बुकिंग सामान्य हो गई।'

ट्रैवेल इंडस्ट्री के अंदरूनी सूत्रों से का कहना है कि दिल्ली में स्मॉग और पलूशन से भारत आने वाले देशवासियों पर ज्यादा असर नहीं पड़ा लेकिन अब नोट बैन के बाद सीधे तौर पर टिकट बुकिंग पर असर पड़ रहा है। दिल्ली के एक ट्रैवेल एजेंट ने कहा कि इसका मतलब पैसा पलूशन से भी बड़ा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You