रुपए की चाल, वृद्धि दर के आंकड़ों से तय होगी बाजार की दिशा

  • रुपए की चाल, वृद्धि दर के आंकड़ों से तय होगी बाजार की दिशा
You Are HereBusiness
Sunday, August 25, 2013-11:25 AM

नई दिल्ली: रुपए का उतार चढ़ाव, वैश्विक संकेत, विदेशी कोषों का प्रवाह चालू सप्ताह में व्यापक तौर पर बाजार की दिशा तय करेंगे। उन्होंने कहा कि डेरिवेटिव अनुबंधों की समयसीमा की समाप्ति से पूर्व शेयर बाजार में उतार चढ़ाव रहने की संभावना है। इसके अलावा जून, 2013 को समाप्त हुए पहली तिमाही के लिए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के आंकड़े भी बाजार की दिशा को निर्धारित करेंगे जिसकी घोषणा शुक्रवार को की जाएगी।

अगस्त के डेरिवेटिव अनुबंधों की समयसीमा की समाप्ति गुरवार को होगी। अप्रैल-जून तिमाही में अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 4.8 से 5 प्रतिशत के दायरे में रहने का अनुमान है। इन्वेंचर ग्रोथ एंड सिक्योरिटीज के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक नागजी के रीता ने कहा, ‘इस बात का संज्ञान लिया जाना चाहिए कि अगस्त श्रृंखला वाले व्युत्पन्न अनुबंधों की समयसीमा चालू सप्ताह में समाप्त हो रही है तथा सप्ताहांत में जीडीपी के आंकड़े भी घोषित किए जायेंगे। इसलिए बाजार में उतार चढ़ाव रहेगा और बाजार के रख के बारे में कुछ अनिश्चितता कारोबारियों में बनी रहेगी।’

रीता ने कहा कि बाजार का रख इस बात पर भी निर्भर करेगा कि चालू सप्ताह में डॉलर और भारतीय रुपए का उतार चढ़ाव कैसा रहता है। हालांकि रुपए के मुकाबले डॉलर की दरें काफी बढ़ चुकी हैं और यह कहना जल्दबाजी होगी कि डॉलर का यह चरम स्तर है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You