ई-कामर्स में एफडीआई की प्रक्रिया जल्द शुरू करेगा डीआईपीपी

  • ई-कामर्स में एफडीआई की प्रक्रिया जल्द शुरू करेगा डीआईपीपी
You Are HereBusiness
Sunday, September 29, 2013-5:24 PM

नई दिल्ली: वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय जल्द ई-कामर्स गतिविधियों में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की अनुमति देने के लिए औपचारिक विचार विमर्श की प्रक्रिया शुरू करेगा। इसमें बीमा और शेयरों के अलावा खुदरा ई-कामर्स शामिल है। फिलहाल बिजनेस टू बिजनेस ई-कामर्स में 100 प्रतिशत एफडीआई की अनुमति है। खुदरा व्यापार में इसकी अनुमति नहीं है।

औद्योगिक नीति एवं संवद्र्धन विभाग (डीआईपीपी) ने इस मामले में प्रक्रिया शुरु कर दी है और नोट का मसौदा तैयार किया है। डीआईपीपी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘इस मुद्दे पर व्यापक विचार विमर्श की जरुरत है। ई-कामर्स सिर्फ खुदरा से ही संबंधित नहीं है। इसमें बीमा और शेयर जैसी वित्तीय सेवाएं भी आती हैं। हम जल्द विचार विमर्श शुरू करेंगे।’’

नोट के मसौदे में ई-कामर्स में एफडीआई की अनुमति के अंतर्राष्ट्रीय व्यवहार का आकलन किया गया है ओर साथ ही क्षेत्र का विश्लेषण किया गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You