थोक महंगाई दर आठ माह के उच्चतम स्तर पर

  • थोक महंगाई दर आठ माह के उच्चतम स्तर पर
You Are HereBusiness
Thursday, November 14, 2013-4:11 PM

नई दिल्ली: मंहगाई के मोर्चे पर आम आदमी की मुश्किलें और बढाते अक्टूबर माह में खुदरा मंहगाई के साथ ही अब थोक मंहगाई दर आठ महीनें के उच्चतम स्तर सात प्रतिशत पर पहुंच गई है। जबकि पिछले महीनें सितंबर में थोक महंगाई दर 6.5 फीसदी रही थी। इस वर्ष पहली बार थोक मंहगायी दर इतने ऊचें स्तर पर पहुंची है।

थोकमूल्य सूचकांक पर आधारित महगाई दर को 7 प्रतिशत पर पहुंचाने में प्याज की बढती कीमतों की सबसे बडी भूमिका रही। आलोच्य अवधि में प्याज के दाम 278 प्रतिशत बढे हालांकि सितंबर में यह 232 प्रतिशत की बढोतरी दर्ज हुई थी। थोकमूल्य सूचकांक में सब्जियों की महंगाई दर 78.4 प्रतिशत रही हालांकि सितंबर में यह 89.4 प्रतिशत पर थी। सितंबर के 18.40 प्रतिशत की तुलना में हालांकि इस अवधि में खाने-पीने की चीजों की महंगाई दर 18.19 फीसदी रही।

महीनें दर महीनें आधर पर आवश्यक वस्तुओं, प्राइमरी आर्टिकल्स की महंगाई दर 13.54 फीसदी से बढकर 14.68 फीसदी पर पहुंच गई। महीनें दर महीनें आधर पर अक्तूबर में वस्तुओं की महंगाई दर भी 2.03 फीसदी से बढकर 2.5 फीसदी हो गई है। महीनें दर महीनें आधर पर अक्तूबर में ईधन और ऊर्जा वर्ग की महंगाई दर 10.08 फीसदी से बढकर 10.33 फीसदी पर पहुंच गई। सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद मंहगाई काबू में नहीं आ रही है। इसकी रफ्तार को देखते हुए इस बात की संभावना लगातार बढ रही है कि अपनी अगली मौद्रिक समीक्षा में रिजर्व बैंक ब्याज दरों में बढोतरी करेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You