किसी आंकडों से तय नहीं होगी रिजर्व बैंक की नीति: राजन

  • किसी आंकडों से तय नहीं होगी रिजर्व बैंक की नीति: राजन
You Are HereBusiness
Saturday, November 16, 2013-11:04 AM

मुंबई: भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि महंगाई काबू करने की आरबीआई का अगला कदम किसी एक आंकडें से नहीं बल्कि समूचे आर्थिक परिदृश्य पर से तय होगा। राजन एक संवाददाता सम्मेलन में बोल रहे थे। थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित मंहगाई दर अक्तूबर में आठ महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच जाने का जिक्र करते हुए राजन ने कहा कि निवेश और आपूर्ति को प्रभावित किए बिना मांग घटाकर ही इस समस्या से निबटा जा सकता है।

रिजर्व बैंक प्रमुख ने कहा कि महंगाई के दानव से अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए बीच का यही रास्ता है। उन्होंने कहा कि सुस्त पडी अर्थव्यवस्था को संभलने का मौका देने के लिए सामान्य से अधिक समय देकर रिजर्व बैंक को बडी दृढता के साथ अपनी नीतियों पर चलना होगा। राजन ने कहा कि इसबार गर्मियों की खरीफ की और सर्दियों की रबी की फसल अच्छी रहने की उम्मीद है। इसके आकंडों का इंतजार है।

हालांकि कोई अकेला आंकडा आरबीआई की नीतियों को उसके रास्ते से अलग नहीं ले जा सकता। महंगाई रोकने के उपाय वृहत
आर्थिक परिदृश्य के अनुरप तय किए जाएंगे। आरबीआई महंगाई नियंत्रित करने के लिए अपनी पिछली मौद्रिक समीक्षा में रेपो दरों में एक चौथाई प्रतिशत की बढोतरी कर चुका है। हालांकि वित्त मंत्री पी चिदंबरम का मानना है कि महंगाई काबू करने में आरबीआई के नीतिगत प्रयास पूरी तरह कामयाब नहीं हो रहें है।

वित्त मंत्री ने आज यहां बैकों के सम्मेलन में कहा कि आरबीआई की सख्ती कीमतों को नीचे लाने में तो कामयाब नहीं हो पाई है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि सरकार और आरबीआई के बीच किसी तरह के मतभेद है बल्कि महंगाई से निबटने के लिए दोनों सांझा प्रयास में जुटे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You