भारत ने दक्षिण कोरियाई कंपनियों को दिया निवेश का न्यौता

  • भारत ने दक्षिण कोरियाई कंपनियों को दिया निवेश का न्यौता
You Are HereBusiness
Wednesday, January 08, 2014-8:41 PM

नई दिल्ली: वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने दक्षिण कोरियाई कंपनियों से भारत के बुनियादी ढांचा क्षेत्र में निवेश के अवसरों का लाभ उठाने को कहा है। चौथे भारत-दक्षिण कोरिया वित्त मंत्रियों की बैठक में चिदंबरम ने आज कहा, ‘‘चूंकि देश की आर्थिक वृद्धि दर की क्षमता करीब 8 प्रतिशत है, ऐसे में हाल के महीनों में आर्थिक नरमी दूर करने, राजकोषीय दबाव पर लगाम लगाने तथा निवेश माहौल सुधारने के लिए कई कदम उठाए गए हैं।’’

दक्षिण कोरिया का प्रतिनिधित्व उपप्रधानमंत्री तथा रणनीति एवं आर्थिक मामलों के मंत्री हुन ओ सियोक ने किया। सरकार ने निवेश माहौल में सुधार के लिये जो कदम उठाये हैं, उसमें एफडीआई व्यवस्था को उदार बनाना, निर्यात को बढ़ावा, बैंकिंग सुधार, वित्तीय बाजारों की पहुंच का विस्तार तथा राजकोषीय मजबूती शामिल हैं। पॉस्को के मामले में चिदंबरम ने कहा कि परियोजना के लिये जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी हो गयी है। कंपनी ओडि़शा में इस्पात संयंत्र लगा रही है।

उन्होंने कहा कि बुनियादी ढांचा क्षेत्र में घरेलू तथा विदेशी निवेश बढ़ाने के लिये सरकार ने परियोजनाओं को मंजूरी देने में तेजी लाने के लिये निवेश पर मंत्रिमंडलीय समिति गठित की है। वित्त मंत्री ने कहा कि इसके अलावा बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के पुनर्वित्त के लिये कम ब्याज पर दीर्घकालीन संसाधन जुटाने को लेकर बुनियादी ढांचा रिण कोष (आईडीएफ) गठित किया है।

उन्होंने कहा कि कोरियाई कंपनियों को बुनियादी ढांचा क्षेत्र में निवेश अवसरों का लाभ उठाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि भारत वित्तीय क्षेत्र में नीति सुधार को आगे बढ़ाने की प्रक्रिया में है और नियामकीय कमी है, उसे दूर किया जा रहा है। अगली द्विपक्षीय बैठक दक्षिण कोरिया में होगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You