अमरीका का वैश्विक अर्थव्यवस्था में असहयोग का संकेत

  • अमरीका का वैश्विक अर्थव्यवस्था में असहयोग का संकेत
You Are HereBusiness
Saturday, February 01, 2014-6:33 AM

मुम्बई : भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने कहा है कि अमरीका के केन्द्रीय बैंक फैडरल रिजर्व की ओर से प्रोत्साहन पैकेज में लगातार की जा रही कटौती वैश्विक आॢथक (विश्व की अर्थव्यवस्था) असहयोग का संकेत है। राजन ने फैड रिजर्व की ओर से प्रोत्साहन पैकेज में 10 अरब डॉलर की एक और कटौती की घोषणा पर कहा कि इस कदम से वैश्विक बाजारों पर बुरा असर पड़ सकता है।

 फैड रिजर्व को यह बात समझनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे उभरती अर्थव्यवस्थाओं के बाजारों से विदेशी पूंजी की तेज निकासी हो सकती है और इसका असर अभी से दिख रहा है। गत सप्ताह से ही तुर्की से लेकर दक्षिण अफ्रीका तथा ब्राजील तक के शेयर बाजार लगातार गिरावट पर हैं।

फैड रिजर्व की ओर से की गई घोषणा में कहा गया था कि फरवरी से वह बांड खरीद को 75 अरब डॉलर से घटाकर 65 अरब डॉलर प्रतिमाह करने जा रहा है। हालांकि राजन ने कहा है कि इसके प्रभाव से निपटने के लिए भारतीय अर्थव्यवस्था की तैयारी पहले से ज्यादा बेहतर है और यदि फिर भी जरूरत पड़ी तो रिजर्व बैंक और सरकार दोनों सभी जरूरी कदम उठाने के लिए तैयार हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You