सेलेरियो की एंट्री से ऑटो गियर बाजार में आएगी रौनक

  • सेलेरियो की एंट्री से ऑटो गियर बाजार में आएगी रौनक
You Are HereBusiness
Friday, February 07, 2014-2:34 PM

नई दिल्ली: तताम देशी विदेशी गाडियों की मौजूदगी के बीच मारूति सुजुकी की ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन प्रणाली युक्त नई हैचबेक कार ‘सेलेरिया की दमदार एंट्री’ से देश के ऑटो गियर बाजार में तेजी आने की संभावना है। देश की सबसे बडी यात्री कार निर्माता कंपनी मारूति सुजुकी इंडिया लिमिटेड ने यहां चल रहे ऑटो एक्सपो में कल ‘सेलेरियो’ को उतारने के साथ ही देश में ऑटो गियर वाली पहली छोटी गाडी पेश की है जिसकी कीमत 3.90 से 4.96 लाख के बीच रखी गई है।

कीमत और नई प्रौद्योगिकी के लिहाज से मारूति की यह गाडी ह्युदेई ग्रांड आई 10 और हौंडा की ब्रियो के लिए कडी चुनौती पेश कर सकती है क्योंकि आटोमैटिक गियर वाली ये दोनों गाडियां कीमत के लिहाज सेसेलेरियो से करीब दो लाख रुपए मंहगी हैं। ग्रांड आई 10 की कीमत 6 लाख रुपए से ऊपर है जबकि ब्रियो 6 लाख 19 हजार रुपए के आस पास की है। सेलेरियो की आटोमैटिक और मैनुअल संस्करण वाली गाडियों की कीमत में महज 39 हजार रुपए का अंतर है।

ऐसी उम्मीद है कि लोग आटोमैटिक वैरियेंट को लेना पसंद करेंगे जिससे ऑटो गियरों की मांग देश में काफी बढेगी। सेलेरिया के आटोमैटिक गियर वाली गाडी में मैनुअल गियर का विकल्प भी मौजूद है। यदि ऑटोमैटिक गियर का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है तो मैनुअल गियर का प्रयोग किया जा सकता है। एमएसआईएल के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी केनिची अयुकावा ने कहा है कि आटोमैटिक गियर के कारण शहरी क्षेत्र के भीड-भाड वाले इलाके में सेलेरियो को चलाना काफी आसान होगा।

उन्होने कहा कि यह गाडी ईंधन खपत के लिहाज से भी काफी किफायती है और मैनुअल गियर वाली पेट्रोल चलित गाडियों के बराबर 23 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देने में सक्षम है। देश में टाटा मोटर्स और ह्युदैंई मोटर्स इंडिया भी अत्याधुनिक ऑटोमैटिक गियर वाली गाडियां लाने की तैयारी में हैं। हौंडा ऑटोमैटिक गियर वाली सिटी का नया मॉडल पहले ही उतार चुकी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You