अंतरिम बजट में प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष कर पर कुछ नहीं कर पाएंगे चिदंबरम

  • अंतरिम बजट में प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष कर पर कुछ नहीं कर पाएंगे चिदंबरम
You Are HereBusiness
Sunday, February 16, 2014-1:57 PM

नई दिल्ली: आसन आम चुनाव के मद्देनजर वित्त मंत्री पी चिदंबरम सोमवार को अंतरिम बजट पेश करेंगे जिसमें प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष कर में बदलाव की संभावना नहीं है लेकिन वित्तीय सुदृढीकरण पर जोर देकर विकास को गति देने का प्रयास किया जा सकता है। आम चुनाव की वजह से चिदंरबम तीन चार महीने के व्यय के लिए लेखानुदान अंतरिम बजट पेश करेंगे और नई सरकार के गठन के बाद जुलाई में बजट पेश किया जाएगा।

अर्थशास्त्रियों का कहना है कि लेखानुदान में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष कर में घट बढ नहीं किया जाता है और आमतौर पर सरकार इसमें कोई विशेष घोषणायें नहीं करती है। सरकार सिर्फ तीन चार महीने के व्यय के लिए धनराशि की मांग रखती है। उनका कहना है कि चिदंबरम भी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष कर के मामले में यथास्थिति बनाए रख सकते हैं लेकिन वह वित्तीय सुदृढीकरण को आगे बढाने से जुडी घोषणायें कर सकते हैं जिससे वित्तीय घाटा को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी। वित्तीय घाटा में 0.60 प्रतिशत की वाॢषक कमी करने की सरकार पहले ही घोषणा कर चुकी है लेकिन नयी सरकार इस पर विचार कर सकती है और वित्तीय घाटा के स्तर का अनुमान लगा सकती है।

विश्लेषकों का कहना है कि चिदंबरम वित्तीय घाटा को 4.8 प्रतिशत के अनुमान से कम रखने की घोषणा कर सकत हैं। टू जी स्पेक्ट्रम की नीलामी से सरकार को उम्मीद से बहुत अधिक राशि मिली है और इसके बल पर वह वित्तीय घाटे को अनुमान से कम रखने में सफल हो सकती है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You