देश में 17 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है ‘ग्रीन टी’ की मांग

  • देश में 17 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है ‘ग्रीन टी’ की मांग
You Are HereBusiness
Sunday, February 23, 2014-1:52 AM

गोलाघाट (असम): देश में ‘ग्रीन टी’ की मांग सालाना 17 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है, जबकि काली चाय की मांग केवल 3 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है। चाय बोर्ड के कार्यकारी निदेशक (प्रभारी) दीपांकर मुखर्जी ने यहां हरी चाय पर एक कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए कहा कि असम ने 2013 के दौरान देश में 1.10 करोड़ किलोग्राम के अनुमानित उत्पादन में से 20 लाख किलोग्राम हरी चाय का उत्पादन किया।

भारत विश्व में काली चाय का सबसे बड़ा उत्पादक व उपभोक्ता देश है, जबकि चीन दुनिया में ग्रीन टी का का सबसे बड़ा उत्पादक व उपभोक्ता देश है। उन्होंने कहा, ‘‘भारत में ग्रीन टी की मांग तेजी से बढ़ रही है, जबकि चीन में काली चाय की मांग बढ़ रही है। इसलिए ग्रीन टी के वैज्ञानिकपूर्ण व सतत उत्पादन पर जोर दिए जाने की जरूरत है।’’

इस कार्यशाला का आयोजन पूर्वोत्तर चाय संघ (एनईटीए) द्वारा पारकोन (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड के साथ मिलकर किया गया जिसे चाय बोर्ड से सहयोग उपलब्ध कराया। कार्यशाला में ग्रीन टी के विनिर्माण, भारत में इसके बाजार की संभावनाओं व उत्पादन के लिए उपलब्ध मशीनरी सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। स्थानीय उद्यमियों ने हस्तनिर्मित ग्रीन टी, जैविक चाय व चाय प्रसंस्करण मशीनरी के बारे में अपने अनुभव साझा किए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You