डाकघर को मिलना चाहिए बैंकिंग लाइसेंस: सिब्बल

  • डाकघर को मिलना चाहिए बैंकिंग लाइसेंस: सिब्बल
You Are HereBusiness
Sunday, March 02, 2014-9:35 AM

नई दिल्ली: संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री कपिल सब्बिल ने भारतीय डाक को बैंकिंग लाइसेंस दिए जाने की पूरजोर वकालत करते हुए कहा कि देश में अभी करीब 55 करोड़ बैंक खाते हैं जबकि डाक बचतधारको की संख्या 28 करोड़ है। सिब्बल ने डाकघर बचत खातों के लिए कोर बैंकिंग सोल्यूशंस और इसके ग्राहकों के लिए एटीएम कार्ड प्रदान करने और एटीएम मशीन का शुभारंभ करने के अवसर पर संवाददाताओं से कहा कि भारतीय डाक को बैंकिंग लाइसेंस मिलना चाहिए।

उन्होंने उम्मीद जताई कि भारतीय रिजर्व बैंक नए बैंक लाइसेस जारी करने के दौरान भारतीय डाक को लाइसेंस देने पर गंभीरता विचार करेगा। उन्होंने कहा कि देश में अभी 1.60 लाख डाकघर है और बैंकिंग लाइसेंस मिलने से ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग सेवाओं की पहुंच हो जाएगी। इस मौके पर दिल्ली परिमंडल के मुख्य पोस्टमास्टर जनरल वसुमित्र ने भी भारतीय डाक को बैंकिंग लाइसेंस मिलने की उम्मीद जताते हुए कहा कि सीबीएस लागू किए जाने और अगले कुछ महीने में इन सेवाओं केविस्तार होने पर रिजर्व बैंक अवश्य लाइसेस जारी करने पर विचार करेगा। उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक के निर्देशन में ही सीबीएस और एटीएम कार्ड जारी करने की प्रक्रिया शुरू की गई है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You