भारत में बढ़ रहा है दवाओं का दुरुपयोग

  • भारत में बढ़ रहा है दवाओं का दुरुपयोग
You Are HereBusiness
Thursday, March 06, 2014-10:26 AM

संयुक्त राष्ट्र: बीमारियों के इलाज के काम आने वाली दवाओं का दुरुपयोग भारत में बढ़ रहा है और दक्षिण एशिया क्षेत्र में यह बड़ी समस्या बन गया है। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि विभिन्न मार्गों से नशीली दवाएं इस क्षेत्र के गैर-कानूनी बाजारों में प्रवेश करती हैं। इन बाजारों में दवाएं भारत के फार्मा उद्योग से आती हैं और अफगानिस्तान से इनका आयात किया जाता है।

संयुक्त राष्ट्र की एक स्वतंत्र संस्था, अंतर्राष्ट्रीय नशीली दवा नियंत्रण बोर्ड (आईएनसीबी) ने अपनी वाॢषक रिपोर्ट में कहा कि दक्षिण एशिया की सरकारें नशीली दवाओं के कारोबार और दुरुपयोग से सख्ती से निपटने का प्रयास कर रही हैं। यह संस्था विश्व भर में नशीली दवाओं के उत्पादन और खपत की निगरानी करती है। रिपोर्ट में कहा गया, ‘‘दक्षिण एशिया में दवाओं के बढ़ते दुरुपयोग की गंभीर समस्या है जिनमें फार्मा कंपनियों द्वारा बनाई वे दवाएं भी शामिल हैं जिनमें नशीले पदार्थों का उपयोग होता है। भारत में बीमारियों के इलाज के काम आने वाली दवाओं का दुरुपयोग बढ़ रहा है।’’

आईएनसीबी के अध्यक्ष रेमंड यान्स के अनुसार एक गलत धारणा है कि बीमारियों के इलाज के काम आने वाली दवाओं का दुरुपयोग गैर-कानूनी नशीले पदार्थों के मुकाबले कम होता है। विश्व भर में वर्ष 2011 में विभिन्न सरकारों ने गैर-कानूनी हशीश के लिए मुख्य स्रोत के तौर पर जिन 5 प्रमुख देशों का जिक्र किया है उनमें भारत शामिल है। बंगलादेश में हैरोइन की तस्करी मुख्य तौर पर भारत से होती है। बंगलादेश में भांग मुख्य तौर पर भारत और नेपाल से आती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You