पैट्रोल के दाम होंगे कम!

  • पैट्रोल के दाम होंगे कम!
You Are HereBusiness
Saturday, March 15, 2014-11:42 AM

जालंधर:  चीन की अर्थव्यवस्था में पुन: धीमापन आने की चल रही चर्चाओं तथा अमरीका में तेल का स्टाक बढऩे से कच्चे तेल में नरमी का रुख देखा जा रहा है। कच्चा तेल 100 डालर प्रति बैरल के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे आ चुका है। 

चीन में हाल ही में व्यापार के जो आंकड़े आए हैं उनसे अर्थव्यवस्था में धीमेपन की आशंका व्यक्त की जा रही है। इससे विश्व में दूसरे सबसे बड़े तेल के खपतकार देश में तेल की मांग कम होने के आसार दिखाई दे रहे हैं इसीलिए कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट देखी जा रही है।


अब तेल में निवेश करने वाले निवेशक चीन के अगले आंकड़ों की तरफ नजरें जमाए बैठे हैं। अमरीका में कच्चे तेल की सप्लाई लगातार 7वें सप्ताह 
में बढ़ती हुई देखी गई है। अमरीका में वास्तव में तेल का प्रयोग हीटिंग कार्य के लिए काफी होता है। अमरीका में तेल रिफाइनरियां फरवरी तथा मार्च महीने में बंद रहती हैं क्योंकि उनके रख-रखाव की ओर अधिकतर ध्यान दिया जाता है।

अगर इसी तरह से कच्चे तेल की कीमतों में और गिरावट आती रही तो ऐसी स्थिति में तेल कम्पनियों को पैट्रोल के दामों में कमी लाने के लिए विवश होना पड़ेगा। पैट्रोल के दाम घटने से आम जनता को राहत मिलेगी। फिलहाल तेल कंपनियां अगले कुछ दिन कच्चे तेल की कीमतों में हो रहे उतार-चढ़ाव को देखना चाहती हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You