नए घरों की पेशकश घटी, सस्ते मकानों की मांग बढ़ी

  • नए घरों की पेशकश घटी, सस्ते मकानों की मांग बढ़ी
You Are HereBusiness
Tuesday, October 10, 2017-10:36 AM

नई दिल्ली: देश के 8 प्रमुख शहरों में चालू साल की जनवरी से सितम्बर की अवधि में नए घरों की पेशकश 33 प्रतिशत घटकर 60,140 इकाई रह गई है। हालांकि इस अवधि में सस्ते मकानों की मांग में 27 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। कुशमन एंड वेकफील्ड की रिपोर्ट के अनुसार 8 प्रमुख शहरों दिल्ली-एन.सी.आर., मुम्बई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलूर, हैदराबाद, पुणे और अहमदाबाद में जनवरी-सितम्बर, 2016 में आवासों की आर्पूति 89,970 इकाई रही थी। परामर्शक कंपनी का कहना है कि सरकार ने सस्ते आवास क्षेत्र को बुनियादी ढांचा क्षेत्र का दर्जा देते हुए ब्याज सबसिडी दी है।

इसी के चलते रियल एस्टेट डिवैल्पर्स सस्ते आवास क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।  मुम्बई को छोड़कर अन्य सभी शहरों में नए घरों की पेशकश घटी है। इसकी मुख्य वजह रियल एस्टेट नियामकीय कानून (रेरा) तथा जी.एस.टी. का क्रियान्वयन है। हालांकि जनवरी-सितम्बर के दौरान सस्ते मकानों की आर्पूति करीब 27 प्रतिशत बढ़कर 26,081 इकाई पर पहुंच गई जो इससे पिछले साल की समान अवधि में 20,485 इकाई रही थी। सस्ते मकानों की नई पेशकश में 40 प्रतिशत की पेशकश मुम्बई में 10,500 इकाइयों की रही। इसके बाद कोलकाता और पुणे का नंबर आता है। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You