नोटबंदी के बाद ज्वैलरी सैक्टर की चमक पड़ी फीकी

  • नोटबंदी के बाद ज्वैलरी सैक्टर की चमक पड़ी फीकी
You Are Herecommodity
Friday, November 18, 2016-4:51 PM

नई दिल्लीः ज्वैलरी शेयरों में भारी भरकम बिकवाली देखने को मिल रही है। नोटबंदी के बाद सोने की चमक कहीं गायब सी हो गई है और ज्वैलरी शेयर काफी टूटते नजर आ रहे हैं। गिरने वाले ज्वैलरी शेयरों में सबसे ज्यादा पीसी ज्वैलर्स 28 फीसदी टूटा है। वहीं टी.बी.जेड. और गीताजंलि जेम्स में 23 फीसदी की गिरावट आई है। इसके अलावा टाइटन 19 फीसदी और श्री गणेश ज्वैलर्स में 14 फीसदी की कमजोरी दिखी है।

बॉम्बे ज्वेलर्स एसोसिएशन के वीपी कुमार जैन का कहना है कि जब से नोटबंदी की घोषणा हुई है तब से लेकर आज तक माल नहीं बिक पाया है। सामान्य दिनों में सोने का बिजनेस 3-4 टन का होता है। जिसमें बुलियन, डायमंड ज्वैलरी और गोल्ड ज्वैलरी इन सबका समावेश रहता है। ज्वेलरी खरीद में कैश में भी ट्रांजैक्शन होता है, इसमें कोई दिक्कत नहीं है।

सरकार ने 2 लाख रुपए के ऊपर के ट्रांजैक्शन के लिए पैन कार्ड लेने की घोषणा दी है। लेकिन अगर कोई चेक से पेमेंट करता है तो वो चेक आगे जाकर इनकैश होगा या नहीं इस पर भरोसा करना मुश्किल है। कुमार जैन के मुताबिक अगले 6 महीने ज्वैलरी कंपनियों के लिए मुश्किल भरे होंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You