नोटबंदीः यहां 30 साल बाद फिर छप रहे 1 रुपए के नोट

  • नोटबंदीः यहां 30 साल बाद फिर छप रहे 1 रुपए के नोट
You Are Herebanking
Friday, November 18, 2016-3:33 PM

नासिकः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों को बंद करने के ऐलान के बाद रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आर.बी.आई.) इन दिनों छोटे नोटों को छापने में व्यस्त है। 500 रुपए के नए नोटों को ज्यादा से ज्यादा छापने की बजाय रिजर्व बैंक 10, 20 और 50 रुपए के छोटो नोटों की प्रिंटिंग को ज्यादा तवज्जो दे रहा है। यही नहीं केंद्रीय बैंक ने नासिक स्थित करंसी नोट प्रेस को 1 रुपए के नोट छापने का भी आदेश दिया है।

महाराष्ट्र में नासिक रोड स्थित प्रेस ने करीब 30 साल पहले 1 रुपए के नोटों की छपाई बंद कर दी थी लेकिन सरकार की ओर से 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों को प्रचलन से बाहर करने के बाद यहां 1 बार फिर से सबसे छोटे करंसी नोट की छपाई का काम जोरों पर है। पिछले सप्ताह यहां पर 1, 10, 20, 50 और 500 रुपये के करीब 5 करोड़ नोट छापे गए थे। इसके अलावा 16 नवंबर को 100 रुपए के 1.90 करोड़ नोट प्रिंट किए गए।  

पिछले सप्ताह जो 5 करोड़ नोट छापे गए थे, उनमें से 10 लाख नोट 1 रुपए के थे, जिन्हें अलग-अलग बैंकों को भेजा जा चुका है। इन नोटों को छापने के लिए सामान्य इंक से अलग स्याही मध्य प्रदेश के देवास से मंगाई गई है। विमुद्रीकरण के बाद नोटों की प्रिंटिंग में तेजी आने के चलते इंक की मांग भी खासी बढ़ गई है। स्याही की कमी न हो इसके लिए देवास से स्पेशल इंक की सप्लाई की जा रही है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You